एयरटेल ने आईयूसी पर ट्राई के फैसले की आलोचना की

मोबाइल टर्मिनेशन लागत को 14 पैसे से घटाकर छह पैसे करने के भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) के फैसले के एक दिन बाद बुधवार को भारती एयरटेल ने इसे इंडस्ट्री के लिए 'बेहद निराशाजनक निर्णय' बताया । भारती एयरटेल ने बयान में कहा, "हम इंटरकनेक्शन यूजेज चार्जेज(आईयूसी) पर नए नियम से काफी दुखी हैं, वह भी ऐसे वक्त जब उद्योग भारी वित्तीय मुश्किलों को सामना कर रहा है।"

बयान के अनुसार, "पूरी तरह से अपारदर्शी तरीके से लाए गए प्रस्तावित आईयूसी की दरें, केवल एक ऑपरेटर को फायदा पहुंचाएगी जो अपने पक्ष में विशाल बड़ी ट्रैफिक विषमता का फायदा उठा रहा है।"

भारतीय टेलिकॉम नियामक प्राधिकरण ने कहा है कि 1 जनवरी 2020 तक आईयूसी को चरणबद्ध तरीके से हटाया जाएगा।

भारती एयरटेल ने कहा, "आईयूसी की दरों में तेजी से कमी दूसरे ऑपरेटरों को इसके लागत के केवल ट्रांसफर भाग में ही फायदा पहुंचाएगी, जिससे इंडस्ट्री की वित्तीय हालत और खराब होगी। इंडस्ट्री के हिस्से के रूप में, जिसकी आर्थिक दशा लगातार खराब हो रही है, हम वास्तव में इस निर्णय से बेहद दुखी है।"

भारती एयरटेल का शेयर मुंबई शेयर बाजार सूचकांक में बुधवार सुबह दस बजकर दो मिनट पर 385.05 प्रति शेयर ट्रेंड कर रहा था जो कि 2.44 प्रतिशत नीचे दर्ज किया गया।

POPULAR ON IBN7.IN