एयरटेल, वोडाफोन, आइडिया की नाक में दम करने वाला रिलायंस जियो ही करेगा बेड़ापार?

रिलायंस जियो को यूं तो मार्केट बिगाड़ने वाला बताया जाता है लेकिन हाल ही में आई एक रिपोर्ट कहती है कि रिलायंस जियो के नए फोन के आ जाने से टेलिकॉम इंडस्ट्री में जो गिरावट देखी जा रही थी, वह थम सकती है. यानी कुल मिलाकर जिसके आगमन में पूरी की पूरी मार्केट स्ट्रैटिजी को बदलकर रख दिया, उसी के एक अन्य प्रॉजेक्ट लॉन्च से दूरसंचार उद्योग की कमाई में आ रहा डाउनफॉल थम सकता है. अगर 10 करोड़ ग्राहक भी इस फोन को अपनाते हैं तो इंडस्ट्री के सालाना कारोबार में 3-4 प्रतिशत या लगभग 95 करोड़ डॉलर जुड़ेंगे.

रेटिंग एजेंसी फिच ने अपनी रपट में अनुमान जताया है कि रिलायंस जियो द्वारा सस्ते 4जी हैंडसेट की पेशकश से कंपनी को 10 करोड़ और ग्राहक हासिल करने में मदद मिलने की संभावना है और उसकी राजस्व बाजार भागीदारी 2018 तक 10 प्रतिशत हो सकती है. इसके साथ ही इस फोन से उद्योग जगत की कमाई में आ रही गिरावट को पलटने में भी मदद​ मिल सकती है.

इसके अनुसार, रिलायंस जियो ने सितंबर से सस्ता 4जी मोबाइल पेश करनी की जो घोषणा की है उससे इंटरनेट का इस्तेमाल बढ़ेगा. दूरसंचार कंपनियों की आय में हाल ही की गिरावट पलटने में मदद मिल सकती है. इस रिपोर्ट के हवाले यह जानकारी न्यूज एजेंसी भाषा ने दी है. 

बता दें कि आरआईएल के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने पिछले सप्ताहांत शेयरधारकों को सूचित किया कि कंपनी एक सस्ता 4जी हैंडसेट पेश करेगी जिसकी ‘प्रभावी’ कीमत शून्य रुपये होगी. ग्राहकों को 4जी कनेक्शन के साथ यह फोन खरीदने के लिए 1500 रुपये की जमानत राशि जमा करवानी होगी. 

फिच का कहना है कि प्रस्तावित हैंडसेट पहली बार 4जी इस्तेमाल करने वालों को आकर्षित करेगा और जियो को राजस्व बाजार हिस्सेदारी हासिल करने में मदद करेगा. इसके अनुसार यह मोबाइल फोन ग्रामीण इलाकों में 2जी हैंडसेट की जगह ले सकता है.

POPULAR ON IBN7.IN