कोलकाता में मेडिकल पेशेवरों के खिलाफ हिंसा का विरोध

निजी अस्पताल के चिकित्सकों के एक धड़े ने यहां शनिवार को चिचित्सकों और मेडिकल पेशेवरों के खिलाफ हिंसा को लेकर और पुलिस व प्रशासन के निष्क्रिय रहने को लेकर पूरे दिन का विरोध प्रदर्शन आहूत किया।

विरोध प्रदर्शन के कारण विभिन्न जिलों से निजी अस्पतालों में इलाज कराने आए मरीजों को असुविधा का सामना करना पड़ा क्योंकि बाहरी मरीजों के इलाज के लिए बना विभाग बंद रहा।

इस प्रदर्शन का आह्वान युनाइटेड डाक्टर्स वॉयस आफ बंगाल ने किया था।

चिकित्सकों ने कहा, "चिकित्सकों और मेडिकल पेशेवरों के साथ होती हिंसा और कई चिकित्सा संस्थानों में जबरन वसूली को लेकर पुलिस व प्रशासन द्वारा निष्क्रियता बरतने का विरोध करने के लिए हमने पूरी तरह से काम बंद करने और सभी गैर-आपातकालीन गतिविधियों को रोकने का फैसला किया है।"

एक मरीज के परिजन द्वारा सीएमआरआई अस्पताल में धमकाने के आरोप ने हड़ताल को बढ़ावा दिया, उसने अस्पताल के बिल 75,000 रुपये का भुगतान करने से मना कर दिया था।

हालांकि, अस्पताल में आपातकालीन सेवाओं को जारी रखने का भरोसा दिया गया और भर्ती मरीजों की पूरी देखभाल का भी आश्वासन दिया गया।

POPULAR ON IBN7.IN