हाशिमारा में तैनात हो सकता है राफेल का एक स्क्वॉड्रन

 

नई दिल्ली:  पश्चिम बंगाल के हाशिमारा स्थित भारतीय वायु सेना अड्डे के अग्रिम मोर्चे पर राफेल का एक स्क्वॉड्रन तैनात किया जा सकता है। सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। राफेल का पहला स्क्वॉड्रन उत्तर प्रदेश के सरसवा वायु सेना अड्डे पर तैनात किया जा सकता है। तीसरे स्क्वॉड्रन की तैनाती के लिए एक और वायु सेना अड्डे को चिन्हित किया जाना बाकी है।

भारतीय वायु सेना के प्रत्येक स्क्वाड्रन में 12 राफेल लड़ाकू विमान होंगे।

राफेल एक बहुउद्देश्यीय लड़ाकू विमान है, जिसका निर्माण फ्रांस की दशॉ एविएशन ने किया है। भारत तथा फ्रांस ने 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने के लिए 23 सितंबर, 2016 को समझौता किया था।

उत्तरी पश्चिम बंगाल में हाशिमारा वायु सेना का एक महत्वपूर्ण अड्डा है जो चीन, बांग्लादेश तथा भूटान की सीमा के नजदीक स्थित है। इसे 1962 में भारत-चीन युद्ध के बाद स्थापित किया गया था।

हाशिमारा में मिग 27 लड़ाकू विमान के दो स्क्वॉड्रन तैनात हैं, जिनकी जगह अगले कुछ वर्षो में नए विमान ले लेंगे। इस बेस पर आकाश मिसाइल प्रणाली भी तैनात है।

भारतीय वायु सेना के पास वर्तमान में 33 लड़ाकू स्क्वॉड्रन हैं, जबकि जरूरत 39.5 स्क्वॉड्रन की है। हालांकि इसकी संख्या बढ़ाकर 42 करने की मांग की गई है।

31 दिसंबर को अपनी सेवानिवृत्ति से कुछ दिन पहले भारतीय वायु सेना प्रमुख अरुप राहा ने संवाददाताओं से कहा था कि वायु सेना को अगले 10 वर्षो में कम से कम 200 विमानों की जरूरत होगी।

POPULAR ON IBN7.IN