भारत में शीर्ष प्रबंधन पदों पर सिर्फ 4 फीसदी महिलाएं

कोलकाता: भारतीय कारोबार जगत में शीर्ष प्रबंधन पदों पर महिलाओं की संख्या सिर्फ चार प्रतिशत ही है, जबकि एशिया में 11 फीसदी महिलाएं शीर्ष प्रबंधन पदों पर हैं। गुरुवार को जारी एक रिपोर्ट से यह जानकारी मिली। अमेरिकी मैनेजमेंट कंसल्टेंट कंपनी मैककिंसी के 2015 में किए गए शोध 'वूमेन मैटर' के अहम आंकड़ों का हवाला देते हुए कंपनी की प्रिंसिपल सहाना शर्मा ने कहा कि घर और कार्यस्थल की दोहरी जिम्मेदारियों का दबाव देश में शीर्ष प्रबंधन पदों पर महिलाओं की भागीदारी में कमी का मुख्य कारण है।

सहना ने कहा, "भारत में प्रारंभिक स्तर पर महिलाओं की संख्या 25 फीसदी है, जबकि मध्यक्रम पर आते-आते यह घटकर 16 फीसदी हो जाती है। शीर्ष प्रबंधन पदों पर यह तेजी से घटकर चार फीसदी रह जाता है।"

शर्मा ने बताया कि शोध में पाया गया कि एशिया में शीर्ष प्रबंधन स्तर पर महिलाओं की भागीदारी में 20 से 30 फीसदी की गिरावट है। इसके पीछे सहाना ने पांच मुख्य कारण बताए।

उन्होंने कहा, "शोध में शामिल 43 फीसदी महिलाओं का मानना है कि उनकी कंपनियों में नौकरी देने, कर्मचारियों को कंपनी में बनाए रखने और उन्हें प्रोन्नति देने की बेहतर प्रणाली विकसित नहीं है।"

इसके अलावा घर और कार्यस्थल की दोहरी जिम्मेदारियों का बोझ भी महिलाओं पर यूरोप की अपेक्षा एशिया में कहीं ज्यादा है।

बच्चों के लालन-पालन में मदद देने संबंधी जननीतियों को कंपनियों में बढ़ावा देने की वकालत करते हुए सहाना ने कहा, "एक और अहम बात यह है कि उनके सामने आदर्श के रूप में महिलाओं की संख्या बहुत कम है, जिनसे वे प्रेरणा ले सकें। फिर कंपनियां ऐसे कर्मचारियों को तरजीह देने लगी हैं, जो उनके लिए कभी भी और कहीं भी काम कर सकें। बच्चों के लालन-पालन को लेकर तो कंपनियों में कोई नीति ही नहीं है।"

मैककिंसी की यह पूरी रिपोर्ट अगले तीन सप्ताह में प्रकाशित होगी।

POPULAR ON IBN7.IN