बांधों से पानी छोड़ने से आई बाढ़ से स्थिति बिगड़ी : ममता

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि बैराजों द्वारा पानी छोड़े जाने के कारण ही राज्य के जिलों में बाढ़ से स्थिति बिगड़ी है और उन्होंने प्रभावित जिलों में मंगलवार से सुधार की उम्मीद जताई। राज्य के 12 से अधिक जिले भारी बारिश की चपेट में हैं, जिससे 36 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। भारी बारिश व बाढ़ के कारण रविवार को मृतकों की संख्या 50 पार कर गई।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उत्तरी 24-परगना जिले में अशोकनगर के अपने दौरे की शुरुआत में कहा, "बीरभूम तथा मुर्शिदाबाद जिले में बाढ़ की स्थिति में सुधार है, लेकिन बर्धवान जिले में स्थिति यथावत है।"

उन्होंने कहा, "हुगली तथा हावड़ा जिले में बाढ़ की स्थिति और बदतर हुई है और डीवीसी (दामोदर घाटी निगम) द्वारा पानी छोड़े जाने से स्थिति और बिगड़ेगी।"

राज्य के सचिवालय नवान्ना में बाढ़ की स्थिति पर रात भर निगरानी करने वाली तृणमूल कांग्रेस प्रमुख हुगली तथा हावड़ा जिले में राहत सामग्री के वितरण के काम पर निगरानी रखेंगी, जबकि तृणमूल के नेताओं तथा सांसदों को राज्य के अन्य क्षेत्रों में राहत कार्य की जिम्मेदारी दी गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 47 नगरपालिका, 210 प्रखंड तथा 9,691 गांव तूफान कोमेन के कारण हुई भारी बारिश से प्रभावित हुए हैं।

राज्य भर में 2.1 लाख हेक्टेयर से अधिक भूमि में लगी फसलें बर्बाद हो गई हैं।

सिंचाई मंत्री राजीब बनर्जी के मुताबिक, बीती रात से लेकर अब तक डीवीसी 90 हजार क्यूसेक पानी छोड़ चुका है, जिसके कारण बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के लोगों की परेशानी और बढ़ गई है।

POPULAR ON IBN7.IN