दार्जिलिंग में सिर्फ 96 घंटे का बंद : जीजेएम

दार्जिलिंग: गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) ने गुरुवार को कहा कि इसने पश्चिम बंगाल के उत्तरी इलाके में स्थित दार्जिलिंग हिल्स को गोरखालैंड राज्य बनाने की मांग को लेकर शनिवार को शुरू हुए बंद की मियाद घटाकर 96 घंटे कर दी है। इससे पहले इसने अनिश्चितकालीन बंद का आह्वान किया था।

जीजेएम के महासचिव रोशन गिरि ने कहा, "हमने शनिवार को अनिश्चितकालीन बंद का आह्वान किया था। लेकिन हमने इसे घटाकर 96 घंटे कर दिया है। यहां आठ अगस्त को ईद है।"

कांग्रेस नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार द्वारा पृथक तेलंगाना राज्य के गठन की मांग को मंजूरी देने के बाद दार्जिलिंग हिल्स में उबाल आ गया है और जीजेएम का कहना है कि पृथक गोरखालैंड की मांग को लेकर यह अपना अभियान तेज करेगी।

जीजेएम पश्चिम बंगाल के उत्तरी जिलों दार्जिलिंग और जलपाईगुड़ी के कुछ हिस्से को मिलाकर उसे नए राज्य का दर्जा दिलाना चाहती है।

जीजेएम प्रमुख विमल गुरुं ग ने भी स्वायत्त और निर्वाचित पहाड़ी विकास परिषद गोरखालैंड टेरिटोरियल एडमिनिस्ट्रेशन (जीटीए) के मुख्य कार्यकारी के पद से इस्तीफा दे दिया है।

जीजेएम के नेता शुक्रवार को अपनी मांगों को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे से मुलाकात करेंगे।

इस बीच, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने संप्रग सरकार पर दार्जिलिंग में शांति भंग करने का आरोप लगाते हुए राज्य के विभाजन से इनकार किया है।

बांग्ला और बांग्ला भाषा बचाओ कमिटि और शिव सेना ने जीजेएम के बंद के विरोध में गुरुवार से सिलिगुड़ी में 48 घंटे के बंद शुरू किया है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

 

POPULAR ON IBN7.IN