बंगाल पंचायत चुनाव हिंसा में 5 की मौत

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में जारी पंचायत चुनाव के चौथे चरण के मतदान के दौरान सोमवार को विभिन्न स्थानों पर हुई हिंसा में पांच लोगों की मौत हो गई। चौथे चरण के पहले चार घंटे में 24-29 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, दो लोगों की मौत बीरभूम जिले में हुई, जबकि मालदा, नाडिया तथा मुर्शिदाबाद जिलों में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई।

राज्य निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने कहा कि पूर्वाह्न् 11 बजे तक बीरभूम जिले में 19 प्रतिशत, नाडिया में 28 प्रतिशत, मुर्शिदाबाद में 27 प्रतिशत और मालदा में 24 प्रतिशत मतदान हुआ।

मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के दो कार्यकर्ताओं का शव सोमवार सुबह बीरभूम जिले के मयूरेश्वर पुलिस स्टेशन के तहत आने वाले एक खेत से बरामद हुआ। एक अन्य बुरी तरह घायल कार्यकर्ता को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

माकपा ने इन मौतों के लिए राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है। हालांकि तृणमूल का कहना है कि पीड़ित बम बना रहे थे, जिसके फटने से उनकी जान गई।

नाडिया जिले के मायापुर में आज्ञात लोगों ने एक व्यक्ति पर बम फेंक दिया, जिसमें उनकी मौत हो गई।

मुर्शिदाबाद जिले के काजीशाह गांव में कुछ अराजक तत्वों ने मतदान केंद्र के बाहर बम फेंक दिया, जिससे मतदाताओं की कतार में खड़ी एक महिला की मौत हो गई।

मालदा जिले के रतुआ में केंद्रीय आरक्षी पुलिस बल (सीआरपीएफ) की ओर से हुई गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई। सीआरपीएफ ने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए गोली चलाई थी।

हिंसा की आशंका के मद्देनजर प्रशासन ने सोमवार को हो रहे मतदान के संदर्भ में 80 प्रतिशत मदान केंद्रों को संवदेनशील या अति संवेदनशील घोषित किया है।

चौथे चरण के तहत करीब 1.10 करोड़ मतदाता चार जिलों में जिला परिषद, पंचायत समिति एवं ग्राम पंचायत के 14,401 पदों के लिए करीब 13,400 मतदान केंद्रों पर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे।

पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के लिए मतदान 11 जुलाई को शुरू हुआ। अंतिम चरण का मतदान 25 जुलाई को होना है। मतगणना 29 जुलाई को होगी।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN