केदारनाथ धाम के लिए नए मार्ग के निर्माण में जुटी सेना

देहरादून: उत्तराखंड में भारी बारिश और बाढ़ से बुरी तरह तबाह हो चुके केदारनाथ धाम के लिए सेना ने गुरुवार को एक नए मार्ग का निर्माण कार्य शुरू किया।

अधिकारियों के अनुसार, राज्य सरकार एवं राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल के विशेष अनुरोध पर इस कार्य को किया जा रहा है।

क्षेत्र में फिर से शुरू भारी बारिश के बीच राहत कार्य एवं सामग्री पहुंचाने के लिए लगाए गए हेलीकॉप्टरों को फिर से तैनात नहीं किया गया है। इससे पहले बाढ़ एवं भारी बारिश के कारण लापता लोगों के तलाश की कार्रवाई भी धीमी पड़ गई है।

16 एवं 17 जून को हुई भारी बारिश तथा बादल फटने के कारण केदारनाथ के लिए जाने वाले सड़क मार्गो को भारी नुकसान पहुंचा है तथा केदारनाथ के लिए जाने वाला पैदल मार्ग बंद हो गया है।

केदारनाथ और इसके आस-पास का इलाका प्राकृतिक आपदा में सर्वाधिक प्रभावित हुआ, जिसमें सैकड़ों लोगों की मौत हो गई।

सेना के केंद्रीय कमान ने बताया कि सैनिकों एवं विशेषज्ञों की एक टीम ने केदारनाथ जाने वाले मार्ग का सैनिक सर्वेक्षण किया और वहां जाने के लिए एक नए मार्ग को खोलने का काम शुरू किया।

सेना के एक अधिकारी ने बताया, "काफी परेशानियों के बाद हम बुधवार को सोनप्रयाग में वासुकी गंगा के पार करने का मार्ग बनाने में कामयाब रहे।"

21 सदस्यीय यह दल, जिसमें चार अधिकारी भी शामिल थे, गोंकारा पहुंचा और शिविर लगाकर रात वहीं बिताई।

अधिकारियों ने आईएएनएस को बताया कि यंत्रों से सुसज्जित एक अन्य टीम ने गुरुवार को सोनप्रयाग में नदी पार की। यह टीम गोंकारा में रुकने लायक क्षेत्र का निर्माण करेगी।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN