बंजर पहाड़ियों को हरा-भरा बना रहा गायत्री परिवार

हरिद्वार: अखिल विश्व गायत्री परिवार, शांतिकुंज के वृक्ष गंगा अभियान के तहत देश की वीरान व बंजर पहाड़ियांे को गोद लेकर उसे हरा-भरा बनाने का क्रमबद्ध अभियान चलाया जा रहा है। परिवार के इस कार्यक्रम से अब तक देश की 51 पहाड़ियों को हरा-भरा बनाया जा चुका है। मध्य प्रदेश के बुरहानपुर जिले के निमाड़ क्षेत्र में पिछले पांच सालों में जिन 15 पहाड़ियों पर वृक्षारोपण किया गया था, आज वे हरी-भरी हो चुकी हैं। श्रीराम शर्मा आचार्य की जन्मशताब्दी के उपलक्ष्य में अभी तक समग्र भारत में 50 लाख से अधिक वृक्षों के पौधे लगाए जा चुके हैं।

वृक्ष गंगा अभियान के इस क्रम में मध्य प्रदेश में सुप्रसिद्ध तीर्थ क्षेत्र व 12 ज्योतिर्लिगों में से एक ओंकारेश्वर के ओंकार पर्वत पर गायत्री परिवार की तीन जिला इकाइयों -खरगोन, खंडवा व बुरहानपुर- के 800 कार्यकर्ताओं ने तरुपुत्र रोपण महायज्ञ किया।

इसके तहत 1100 पौधों का रोपण कर भगवान ओंकारनाथ व भगवान ममलेश्वर महादेव का वृक्षाभिषेक कर एक नई परंपरा का श्रीगणेश किया। रोपे गए पौधों में मुख्य रूप से बेलपत्र करंज, शीशम, नीम, जामुन व आम के पौधे हैं।

इस दौरान अखिल विश्व गायत्री परिवार के प्रमुख प्रणव पंड्या ने उपस्थित जन समूह को फोन पर संदेश दिया। उन्होंने कहा कि हाल में उत्तराखंड में आई प्राकृतिक आपदा पर्यावरण के प्रति हमारे कर्तव्यों का भी स्मरण कराती है। इस आपदा का एक प्रमुख कारण पहाड़ों से वृक्षों की लगातार हो रही कटाई को भी माना गया है।

गायत्री परिवार के प्रांतीय प्रतिनिधि मेवालाल पाटीदार ने कहा कि एक वृक्ष अपने 50 वर्षों के जीवन काल में एक करोड़ रुपये का लाभ समाज को देता है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN