उत्‍तराखंड चुनाव 2017: बीजेपी के साथ नहीं बाबा रामदेव

योग गुरु बाबा रामदेव उत्तराखंड में चल रहे मतदान के दौरान पोलिंग बूथ पहुंचे। उन्होंने कहा कि इस चुनाव में बड़े-बड़े सूरमा निपट जाएंगे। उन्होंने चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का भी खुले तौर पर समर्थन नहीं किया। उन्होंने कहा कि वह इस चुनाव में ‘निष्पक्ष’ हैं। रामदेव ने आगे कहा कि इस बार के विधानसभा चुनाव से उत्तराखंड में भूचाल आ सकता है। निष्पक्ष रहने की वजह पूछे जाने पर रामदेव ने कहा कि देश की जनता काफी विवेकशील है। उन्होंने कहा कि देश की जनता ही चायवाले को प्रधानमंत्री और पहलवान को मुख्यमंत्री बना देती है।

बाबा रामदेव ने लोकसभा चुनाव के वक्त खुले तौर पर भारतीय जनता पार्टी और नरेंद्र मोदी का समर्थन किया था। बीजेपी की सरकार बनने के बाद काले धन, नोटबंदी जैसे मुद्दों पर रामदेव मोदी को समर्थन देते रहे हैं।

उत्तराखंड में 15 फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग हो रही है। इसमें 70 में से 69 सीटों पर मतदान हो रहा है। राज्‍य की कर्णप्रयाग सीट पर 12 फरवरी को बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी कुलदीप कान्वासी की सड़क दुर्घटना में मृत्यु होने के कारण वहां चुनाव स्थगित किया गया है। वहां अब नौ मार्च को मतदान होगा।

उत्तराखंड में ज्यादातर सीटों पर भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है, लेकिन करीब एक दर्जन सीटों पर बतौर निर्दलीय खड़े हो गये बागी अपनी पार्टी के अधिकृत प्रत्याशियों का चुनावी गणित बिगाड़ सकते हैं। मतदान प्रक्रिया को सुचारू ढ़ंग से संपन्न कराने के लिये पुलिस सहित करीब 30,000 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गयी है। सुरक्षाकर्मियों के अलावा करीब 60,000 मतदान कर्मियों को भी ड्यूटी में लगाया गया है।

POPULAR ON IBN7.IN