उप्र में बिजली उपभोक्ताओं को झटका

लखनऊ, 11 मार्च (आईएएनएस/आईपीएन)। सरचार्ज में छूट की आस लगाए बैठे उत्तर प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं को इस बार जोर का झटका लगा है। इस बार उपभोक्ताओं को सरचार्ज में मिलने वाली छूट में पचास फीसदी तक कटौती कर दी गई है। पावर कारपोरेशन साल में दो बार एकमुश्त समाधान योजना चलाता है। इसके तहत विद्युत उपभोक्ताओं के विद्युत बिल के साथ लगने वाले ब्याज में छूट दी जाती है। मार्च की क्लोजिंग को देखते हुए फरवरी के अंतिम सप्ताह अथवा मार्च के प्रथम सप्ताह में इस योजना को शुरू कर दिया जाता है। इस बार शुरू की गई योजना पर गौर करें तो ग्रामीण क्षेत्र के घरेलू उपभोक्ताओं और निजी नलकूपों के मालिकों को इसमें शामिल किया गया है।

यह योजना 25 फरवरी से 31 मार्च तक चलाई जाएगी। इसके लिए उपभोक्ताओं को अपने नजदीकी विद्युत उपकेंद्र पर एक हजार रुपये की रसीद कटवानी होगी। बाद में कुल बकाया जमा करते समय पंजीकरण शुल्क भी उसमें जोड़ लिया जाएगा। लेकिन इस बार सरचार्ज में 50 प्रतिशत की कमी करने से उपभोक्ताओं में असमंजस की स्थिति है।

विभागीय सूत्रों के मुताबिक पावर कारपोरेशन और सरकार दोनों मिलकर छूट दें, तभी सौ प्रतिशत छूट जारी हो सकती है। पचास प्रतिशत छूट विभाग अपने स्तर पर कर सकता है लेकिन विद्युत मंत्रालय से छूट नहीं मिलने के कारण यह कमी आई है।

मार्च की वसूली से घबराए विभाग ने अपनी तरफ से उपभोक्ताओं को छूट दे दी है। इस संबंध में अधिकारियों का कहना है कि ऊपर से जो आदेश मिला है, उसका पालन किया जा रहा है। अगर सौ प्रतिशत छूट का आदेश आता है तो वह छूट भी दी जाएगी।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN