उप्र के छोटे जिलों में भी शुरू होंगी आवासीय योजनाएं

लखनऊ, 11 मार्च (आईएएनएस/आईपीएन)। आवासीय मांग को पूरा करने के लिए आवास विकास परिषद, उत्तर प्रदेश अब छोटे जिलों में भी नई योजनाएं शुरू करने जा रहा है। प्रथम चरण में महोबा और अलीगढ़ में आवासीय योजनाओं के लिए भूमि अधिगृहीत की जाएगी। लखनऊ की वृंदावन योजना के लिए जिन किसानों की भूमि ली गई है, उन्हें अब 31 दिसंबर तक भूखंड मिल जाएंगे। प्रमुख आवास सचिव प्रवीर कुमार की अध्यक्षता में हाल ही में हुई आवास बोर्ड की बैठक में अगले वित्त वर्ष के लिए 2833 करोड़ रुपये के बजट को अनुमोदित करने के साथ ही कई अहम फैसले लिए गए।

इस संबंध में आवास आयुक्त रुद्र प्रताप सिंह ने बताया, "चार मंजिला भवनों से अधिक की मूल्यांकन गाइड लाइन के प्रस्ताव को बोर्ड ने मंजूरी दे दी है। ऐसे में अब बहुमंजिला भवनों के निर्माण में इस्तेमाल होने वाली भूमि की कीमत का डेढ़ गुना मूल्य परियोजना लागत की गणना में शामिल किया जाएगा जिससे फ्लैट की कीमत दस फीसदी से ज्यादा बढ़ना तय है।"

सिंह ने बताया, वृंदावन योजना के लिए जिन किसानों की भूमि ली गई है, उन्हें भूमि का पांच फीसदी आकार का भूखंड देने की अवधि को अब 31 दिसंबर तक बढ़ा दिया गया है।

आयुक्त ने बताया कि महोबा में बांदा रोड पर 140 एकड़ में व अलीगढ़ में आगरा रोड पर 134 एकड़ जमीन पर नई आवासीय योजना शुरू करने का निर्णय भी बोर्ड ने किया है। इसके लिए धारा 28 के तहत भूमि अधिग्रहण की कार्रवाई करने को बोर्ड ने मंजूरी दे दी है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN