एक्शन में योगी - सिर्फ मेरिट के आधार पर नौकरियां; थानों पर दबाव नहीं

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के नवनियुक्त मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शपथ ग्रहण के साथ 'एक्शन' में हैं. उन्होंने सोमवार को अपने कार्यकाल के पहले दिन अधिकारियों से 15 दिन में अपनी संपत्तियों का ब्योरा देने को कहा. उन्होंने नौकरियों में मेरिट के आधार पर भर्तियां करने के लिए कहा. योगी की सरकार बनते ही बूचड़खानों पर गाज गिरनी शुरू हो गई है. रविवार को रात में इलाहाबाद के अटाले इलाके में तीन बूचड़खानों पर ताले लगा दिए गए.

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार बनते ही एक्शन में हैं. उनकी सरकार बनते ही बूचड़खानों पर गाज गिरनी शुरू हो गई है. रविवार को रात में इलाहाबाद के अटाले इलाके में तीन बूचड़खानों पर ताला लगा दिया गया. हालांकि इन बूचड़खानों के बंद होने से सैकड़ों लोगों की रोजी-रोटी पर संकट खड़ा हो गया है. हालांकि स्थानीय प्रशासन का कहना है कि यह बूचड़खाने पहले ही बंद कर दिए गए थे लेकिन सवाल यह उठता है कि अगर पहले ही बंद थे तो फिर ताला नई सरकार के आने पर क्यों लगाया गया?

योगी ने अफसरों से कहा कि अधिकारी लोक संकल्प के हिसाब से योजना बनाएं. इस मौके पर स्वच्छता के लिए सभी अफसरों को शपथ दिलाई गई. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निवेश बढ़ाने पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट पॉलिसी बेहतर की जाएगी. सीएम ने कहा कि तहसील और थानों में किसी भी तरह का राजनैतिक दबाव नहीं होना चाहिए, जीरो टॉलरेंस होना चाहिए. महिलाओं के प्रति अधिकारी अपना रुख बदलें. उन्होंने कहा कि अधिकारी बजट की तैयारी करें. 15 जून से 15 जुलाई के बीच बजट सत्र हो सकता है.

मुख्यमंत्री ने बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के नेता की हत्या के सिलसिले में राज्य पुलिस प्रमुख से मुलाकात की. उन्होंने बताया कि उन्होंने डीजीपी जावीद अहमद से 'सतर्क' रहने और प्रदेश में अपराधों की रोकथाम के लिए योजना बनाने के लिए कहा है. 44 वर्षीय योगी आदित्यनाथ ने रविवार को दो उप मुख्यमंत्रियों  केशव प्रसाद मौर्य तथा दिनेश शर्मा  एवं 44 अन्य मंत्रियों के साथ मुख्यमंत्री के रूप में पद एव गोपनीयता की शपथ ली थी. हमेशा भगवा वस्त्र पहने रहने वाले योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि उनकी सरकार बिना किसी भेदभाव के समाज के सभी वर्गों के लिए काम करेगी.

सूत्रों ने बताया है कि उत्तर प्रदेश के पुलिस प्रमुख से मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को रात में इलाहाबाद में हुई बीएसपी नेता की हत्या पर चिंता व्यक्त की. योगी आदित्यनाथ ने जावीद अहमद से सभी जिलों के पुलिस अधिकारियों से बातचीत करने के बाद 15 दिन के भीतर राज्य में बेहतर पुलिस व्यवस्था स्थापित करने के लिए ब्लूप्रिंट बनाने को भी कहा है.
    
योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को ही वीवीआईपी गेस्ट हाउस में राज्य के शीर्ष नौकरशाह, यानी मुख्य सचिव से भी मुलाकात की. मुख्यमंत्री फिलहाल इसी गेस्ट हाउस में रह रहे हैं. उनके सभी विभागों के प्रधान सचिवों से भी जल्द मुलाकात करने की संभावना है.
    
रविवार को मुख्यमंत्री ने शपथ ग्रहण के तुरंत बाद अपने मंत्रिमंडल के साथ एक अनौपचारिक बैठक भी की थी. भ्रष्टाचार के विरुद्ध बड़ा कदम उठाते हुए योगी आदित्यनाथ ने रविवार को ही अपने सभी मंत्रियों से अपनी संपत्ति और पूंजी का ब्योरा 15 दिन के भीतर सार्वजनिक करने के लिए कहा था.
    
सभी मंत्रियों से कहा गया है कि वे यूपी सरकार के प्रवक्ता नियुक्त किए गए श्रीकांत शर्मा तथा सिद्धार्थनाथ सिंह के जरिए ही मीडिया से बातचीत करें. सीधे मीडिया से बात करने को लेकर चेतावनी भी दी गई है. उत्तर प्रदेश के दो वरिष्ठतम विधायकों को जिम्मेदारी सौंपी गई है कि वे सभी चयनित सदस्यों को सरकार से समन्वय स्थापित करने का प्रशिक्षण दें.  403-सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी ने 312 सीटें जीती हैं, और उनके कई विधायक पहली बार जीतकर सदन में पहुंचे हैं.
   
योगी के पदभार ग्रहण करने के साथ ही नौकरशाहों में तबादलों की अटकलें जोरों पर हैं. गोरखपुर से पांच बार सांसद रह चुके योगी आदित्यनाथ अपने संसदीय क्षेत्र में स्थित गोरखनाथ मंदिर के प्रमुख महंत भी हैं.

  • Agency: IANS
Poker sites http://gbetting.co.uk/poker with all bonuses.