उप्र : शराबबंदी पर मांगा वकीलों का समर्थन

बांदा:  गैर पंजीकृत संगठन 'नारी इंसाफ सेना' (एनआईएस) की प्रमुख वर्षा भारती ने जिला कचहरी में अधिवक्ताओं से संपर्क कर पूर्ण शराबबंदी कानून बनाए जाने को लेकर चर्चा की और अपने इस अभियान के लिए समर्थन मांगा। वर्षा भारती ने मंगलवार को बताया, "वामपंथी बुजुर्ग अधिवक्ता और अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष रणवीर सिंह चौहान ने महिलाओं के खिलाफ हो रही हिंसा को लेकर चिंता जाहिर की और कहा कि ज्यादातर विवादों की जड़ शराब है, बिहार की तर्ज पर यहां भी पूर्ण शराबबंदी कानून बनाया जाना चाहिए।"

ह्यूमन राइट्स लॉ नेटवर्क से जुड़े अधिवक्ता शिवकुमार मिश्र ने भी शराबबंदी का समर्थन करते हुए कहा, "घर-आंगन से लेकर सड़क तक आए दिन शराबी महिलाओं के साथ हरकत करते हैं। शराब के अलावा अन्य नशे पर भी पूर्ण बंदी लागू की जानी चाहिए।"

बकौल वर्षा, "शराब बंदी कानून बनाए जाने को लेकर श्यामसुंदर राजपूत, ओमप्रकाश सिंह, रावेंद्र यादव, राजाभइया सिंह, विजय रतन आदि दो दर्जन अधिवक्ताओं से चर्चा कर समर्थन मांगा गया है। सभी अधिवक्ताओं ने 'एनआईएस' की इस पहल को सराहा और सहयोग देने का भरोसा दिया है।"

POPULAR ON IBN7.IN