आगरा पर्यटन उद्योग का हवाईअड्डा मुद्दे पर प्रदर्शन

आगरा: आगरा पर्यटन उद्योग ने यहां हवाईअड्डा विकास को लेकर रविवार को उत्तर प्रदेश सरकार की आलोचना की। यहां के पर्यटन उद्योग से जुड़े राजीव तिवारी ने कहा, "आगरा के दावे को दरकिनार कर यहां से करीब 100 किलोमीटर दूर मुलायम सिंह यादव के पैतृक गांव सैफई में हवाईअड्डे का दर्जा बढ़ाने का समाजवादी पार्टी सरकार का कथित फैसला अतार्किक है।"

आगरा होटल्स एंड रेस्तरां एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश चौहान ने कहा, "हवाईअड्डे की मांग एक राजनीतिक मुद्दा बन चुका है। नेता अपने वोट बैंक को संतुष्ट करने के लिए आगरा के न्यायोचित दावे को दरकिनार कर रहे हैं, जहां दो वैश्विक धरोहर और करीब आधा दर्जन ऐतिहासिक संरचनाएं हैं और जिन्हें देखने के लिए दुनियाभर से लाखों लोग पहुंचते हैं।"

होटल कारोबारी सुरेंद्र शर्मा ने कहा, "खेरिया में नया टर्मिनल भवन बनाने के लिए अकेले धनौली गांव में करीब 55 एकड़ जमीन खरीदने की जरूरत है।"

एक पर्यटन गाईड वेद गौतम ने कहा, "ताजमहल देखने के लिए आने वाले पर्यटकों को यहां सीधे खेरिया हवाईअड्डे पर उतरना चाहिए, लेकिन ट्रैवल एजेंटों और होटल कारोबारियों की लॉबी आगरा में अंतर्राष्ट्रीय होटल की योजना में बाधक बन रही है।"

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN