आगरा : गिरजाघर हमले की निष्पक्ष जांच की मांग

आगरा: आगरा में ईसाई समुदाय ने पिछले सप्ताह गिरजाघर पर हुए हमले की निष्पक्ष जांच की मांग की है, जबकि पुलिस का दावा है कि इस घटना के पीछे एक हताश आशिक का हाथ है। इधर, गुरुवार शाम को एक रिक्शा चालक को गिरफ्तार किया गया, जिसके बारे में यह जानकारी सामने आई थी कि एक महिला से उसे प्यार हो गया था जिसे वह गिरजाघर पहुंचाया करता था।

लेकिन जब उसने उसके प्रणय निवेदन को नहीं स्वीकारा, तो नाराज हो गया और उसने गिरजाघर को क्षति पहुंचाई।

पुलिस का दावा है कि पादरियों और ईसाई समुदाय के नेताओं ने हालांकि, पुलिस के इस दावे को खारिज कर दिया।

यूनाइटेड क्रिश्चियन फोरम के एंड्रयु प्रकाश ने गुरुवार को पुलिस के बयान पर आपत्ति जाहिर की और दोषी को पकड़ने के लिए निष्पक्ष जांच कराए जाने की मांग की।

आगरा केंट के सेंट मेरी गिरजाघर में 16 अप्रैल को क्षतिग्रस्त अवस्था में देखा गया जहां एक मूर्ति और कार को भी क्षति पहुंचाई गई थी।

पुलिस एक सप्ताह से अधिक वक्त तक कुछ पता नहीं लगा पाई और तीन लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था।

हालांकि, गुरुवार तक पुलिस को कोई मजबूत सबूत नहीं मिल पाए थे।

अब तक, पुलिस ने 300 से अधिक मोबाइल फोन ट्रैक किया और 500 लोगों से पूछताछ की है, लेकिन अब तक कोई बड़ी सफलता नहीं मिल पाई है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

 

POPULAR ON IBN7.IN