त्रिपुरा : वेतन निकासी के दिन परेशानी उम्मीद से कम

 

अगरतला/आइजोल: त्रिपुरा में गुरुवार को लोगों को बैंकों और एटीएम से वेतन निकालने के लिए अधिक परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा। नोटबंदी के बाद वेतन निकासी के पहले दिन अधिकतर लोगों को अधिक परेशानी का डर था।

अगरतला में बैंक अधिकारियों का कहना है कि अधिकतर कर्मचारियों ने एक दिसम्बर को वेतन निकासी पर अधिक परेशानी के डर से पहले ही अपने खातों से कुछ धन निकाल लिए थे।

यूसीओ बैंक के अधिकारी शेखर पॉल ने आईएएनएस को बताया, "वेतनभोगी कर्मचारियों की परेशानियों को आसान करने के लिए बैकों में और एटीएम में विभिन्न श्रेणी की मुद्राएं पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराई गई हैं।"

सरकारी कर्मचारी अपने पैसों को निकालने के लिए सुबह से बैंकों और एटीएम के सामने कतारों में खड़े हो गए थे। कई कर्मचारी अपने कार्यालयों में हाजिरी लगाकर एटीएम और बैकों में पहुंचे।

पूर्वोत्तर भारत के अर्ध-शहरी, दूरदराज और ग्रामीण क्षेत्रों में नकदी की कमी की स्थिति अब भी गंभीर बनी हुई है, क्योंकि अधिकतर बैंकों तथा एटीएम में पर्याप्त धन नहीं है।

बैंकों और बाजारों में नए नोट की कमी के कारण खरीदारों और व्यापारियों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

त्रिपुरा सरकार के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी अमित रॉय चौधरी ने कहा, "हम नोटबंदी के बाद से ही काफी परेशानियों का सामना कर रहे हैं।"

युनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया के मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक और उप महाप्रबंधक महेंद्र दोहारे ने आईएएनएस को बताया, "बैंक कर्मियों ने ग्राहकों की मदद के लिए हर प्रकार के प्रयास किए हैं। पूरे पूर्वोत्तर भारत की स्थिति में सुधार हो रहा है।"

मिजोरम में नोटबंदी के बाद 500 रुपये के नए नोट और 100 रुपये के नोट दो दिन पहले ही पहुंचे हैं। इस कारण पैसों की समस्या कुछ कम हुई है।

आइजोल में भारतीय स्टेट बैंक के सहायक महाप्रबंधक प्रदीप कुमार सेन ने कहा, "बैंकों और एटीएम में बुधवार से 500 रुपये के नए नोट और 100 रुपये के नोट उपलब्ध हैं।"

POPULAR ON IBN7.IN