बंगाल में हुए हमले का संदिग्ध आरोपी तमिलनाडु में गिरफ्तार

पश्चिम बंगाल में 2010 में ईस्टर्न फ्रांटियर राइफल्स (ईएफआर) की छावनी पर हमले में वांछित एक नक्सली नेता को तमिलनाडु में गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी। ईएफआर की छावनी पर हुए इस नक्सली हमले में 24 लोगों की मौत हुई थी। एक संयुक्त अभियान के तहत तमिलनाडु तथा पश्चिम बंगाल की पुलिस ने कोयम्बटूर से श्याम चरण टुडू को गिरफ्तार किया।

कोयम्बटूर पुलिस प्रमुख ए.के. विश्वनाथन ने आईएएनएस को बताया, "उसे कल शनिवार की मध्यरात्रि को उसके घर से गिरफ्तार किया गया। पश्चिम बंगाल पुलिस को इसके बारे में कुछ इशारा मिला था और वह हमारा सहयोग चाहती थी।"

उन्होंने बताया कि टुडू को ट्रांजिट रिमांड पर पश्चिम बंगाल ले जाया जाएगा।

नाम न उजागर करने की शर्त पर पश्चिम बंगाल के एक पुलिस अधिकारी ने बताया, "सुरक्षा कारणों से हम उसे पश्चिम बंगाल ले जाने की समय एवं यात्रा से संबंधित अन्य जानकारी नहीं दे सकते।"

अधिकारी के अनुसार टुडू, जो अभी के नाम से भी जाना जाता है, पर हत्या सहित अनेक मामले दर्ज हैं और वह अब तक फरार था।

अधिकारी ने आगे बताया, "ईएफआर छावनी पर हुए हमले का मुख्य साजिशकर्ता जयंतो था और वह भी फरार है। इस हमले के सिलसिले में 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया था।"

विश्वनाथन ने आगे बताया, "टुडू के भाई सहित उसके पश्चिम बंगाल के गांव के कुछ लोग कोयम्बटूर में काम करते हैं।"

टुडू भी पिछले साल से कोयम्बटूर में काम कर रहा था। कोयम्बटूर में पश्चिम बंगाल, बिहार तथा ओडिशा के मजदूर काफी संख्या में काम करते हैं।

वर्ष 2010 में नक्सलियों के एक गिरोह ने जिसका नेतृत्व कथित तौर पर टुडू कर रहा था, पश्चिम बंगाल के सियालदा में ईएफआर छावनी पर हमला किया था जिसमें 24 लोगों की मौत हो गई थी।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN