तमिलनाडु में श्रीलंका के खिलाफ प्रदर्शन जारी

श्रीलंकाई तमिलों पर कथित तौर पर श्रीलंकाई सेना द्वारा किए गए अत्याचारों के खिलाफ तमिलनाडु में बुधवार को भी धरना-प्रदर्शन जारी रहे। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) के आने वाले सत्र में कोलम्बो विरोधी एक प्रस्ताव पर चर्चा होना है।

श्रीलंका में तमिल ईलम के खिलाफ हुए युद्ध के आखिरी दिनों में श्रीलंकाई सेना द्वारा की गई ज्यादतियों पर गुरुवार को होने वाली 47 सदस्यीय यूएनएचआरसी की बैठक में श्रीलंका को आरोपों के घेरे में लाने के लिए मतदान होना है।

चेन्नई के मरीना समुद्र तट पर इकट्ठा हुए भारी संख्या में विभिन्न विद्यालयों के छात्रों ने श्रीलंका के खिलाफ आर्थिक प्रतिबंध लगाए जाने तथा यूएनएचआरसी में श्रीलंका प्रस्ताव का समर्थन करने की मांग करते हुए नारे लगाए।

चेन्नई की विभिन्न अदालतों से राजभवन तक जुलूस निकालने जा रहे वकीलों को पुलिस ने रोक दिया। इसके बाद वकील सड़क पर ही बैठ गए और श्रीलंका विरोधी नारे लगाने लगे।

श्रीलंकाई तमिलों के समर्थन में चेन्नई के विभिन्न इलाकों के नागरिकों ने धरना-प्रदर्शन किया तथा भूख-हड़ताल में शामिल हुए।

मदुरै तथा कोयम्बटूर में भी छात्रों तथा वकीलों ने श्रीलंका के खिलाफ प्रदर्शन किए तथा नारे लगाए। तूतीकोरिन में कुछ मीडिया संगठनों ने श्रीलंका के खिलाफ आर्थिक प्रतिबंध लगाने की मांग की।

राज्य के अन्य हिस्सों से मिली खबरों के अनुसार भारत से श्रीलंकाई तमिलों का समर्थन करने की मांग करते हुए विभिन्न शिविरों में रह रहे तमिल शरणार्थी भूख हड़ताल पर चले गए।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN