'कुडनकुलम परमाणु केंद्र से निकलने वाली भाप परीक्षण का हिस्सा'

भारत में परमाणु ऊर्जा का उत्पादन करने वाले संयंत्रों की संचालक संस्था, न्यूक्लियर पावर कारपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (एनपीसीआईएल) ने सोमवार को कहा कि कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा परियोजना (केएनपीपी) की पहली इकाई से परीक्षण के तहत सिर्फ भाप ही निकलने दी गई। केएनपीपी के कार्यस्थल निदेशक आर. एस. सुंदर ने कहा, "कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा परियोजना के परीक्षण के तहत भाप निकलने के लिए बनी पाइपों पर लगे स्टीम रिलीफ वाल्वों का परीक्षण किया गया। दिन के समय ही इन परीक्षणों को किया गया तथा परीक्षण के दौरान सिर्फ भाप ही निकलने दी गई।"

एनपीसीआईएल के तर्क का प्रतिवाद करते हुए पीपुल्स मूवमेंट अगेंस्ट न्यूक्लियर एनर्जी (पीएमएएनई) से जुड़े एम. पुष्परायण ने आईएएनएस से कहा, "पिछले तीन दिनों से हमें संयंत्र से भारी शोर की आवाजें सुनाई दे रही हैं। संयंत्र से काले और सफेद रंग का गाढ़ा धुआं निकला और तेज दरुगध भी आ रही है।"

पुष्परायण ने संयंत्र में काम शुरू होने की तारीखों में भी विरोधाभास की बात कही। उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा था कि संयंत्र अप्रैल से काम करना शुरू करेगा जबकि एनपीसीआईएल की वेबसाइट पर संयंत्र में काम शुरू होने की तारीख मई 2013 प्रदर्शित है।"

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN