ईडी ने तमिलनाडु के कारोबारी से 50 किलोग्राम सोना जब्त किया

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार को कहा कि पुराने के बदले नए करेंसी नोट घोटाले के सिलसिले में उसने कारोबारी जे.शेखर रेड्डी तथा उनके सहयोगियों का लगभग 50 किलोग्राम सोना अनौपचारिक तौर पर जब्त किया है, जिसकी कीमत 13,96,88,246 करोड़ रुपये है। ईडी ने कहा कि कार्रवाई को धन शोधन रोकथाम अधिनियम, 2002 (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत अंजाम दिया गया।

यहां जारी एक बयान में ईडी ने कहा कि नोटबंदी के बाद, आयकर विभाग ने एसआरएस माइनिंग के प्रबंध निदेशक रेड्डी से जुड़े कई ठिकानों की तलाश ली थी और 97 करोड़ रुपये के पुराने नोट, 34 करोड़ रुपये के नए नोट तथा 177 किलोग्राम सोने की ईंटें जब्त की थीं।

ईडी ने कहा कि इसके बाद केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने विमुद्रित नोटों को फर्जी तरीके से नए नोटों में बदलने को लेकर रेड्डी तथा उनके सहयोगियों के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज की थी। जांच एजेंसी ने कहा कि उसने रेड्डी तथा अन्य के खिलाफ पीएमएलए के तह जांच भी शुरू की थी।

ईडी के बयान के मुताबिक, आयकर अधिकारियों ने तलाशी के दौरान, एसआरएस माइनिंग के एक फ्लैट से 49.480 किलोग्राम सोने की ईंटे बरामद की थीं, जिनकी कीमत 13,96,88,246 करोड़ रुपये है।

रेड्डी ने कहा है कि आयकर विभाग द्वारा जब्त नकदी उनकी एसआरएस माइनिंग कंपनी की है और उसने स्वीकार किया कि वह काला धन है।

ईडी ने कहा, "हालांकि उन्होंने नई करेंसी के स्रोतों का खुलासा नहीं किया और कहा कि ये बालू खनन व्यापार से जुड़ी रकम है।"

जांच एजेंसी ने कहा कि रेड्डी तथा उनके सहयोगियों ने मिलकर कालेधन के एक हिस्से को एम.प्रेमकुमार के माध्यम से सोने की ईंटों में बदल दिया, जो रेड्डी के सहयोगी के.श्रीनिवासुलू से रकम लेने का काम करता है।

POPULAR ON IBN7.IN