'मैप्स' की दूसरी इकाई सोमवार को शुरू होगी

मद्रास परमाणु विद्युत केंद्र (मैप्स) की 220 मेगावाट की दूसरी इकाई सोमवार यानी आठ मई से पुन: चालू हो सकती है। मैप्स का संचालन भारतीय परमाणु विद्युत निगम लिमिटेड (एनपीसीआईएल) करता है। इस इकाई को इस साल मार्च में सालाना रखरखाव के लिए बंद कर दिया गया था।

मैप्स के केंद्र निदेशक आर. सत्यनारायण ने आईएएनएस से कहा, "इस इकाई को सोमवार, आठ मई को फिर से शुरू किया जाएगा। इसके बाद यह पूरी क्षमता से काम करने लगेगी।"

उन्होंने कहा, "हमने अपनी समुद्री जल प्रणाली में कुछ पाइपलाइनों में बदलाव किए हैं और कुछ अन्य उपकरण भी बदले गए हैं।"

मैप्स में 220 मेगावाट की दो इकाइयां हैं।

सत्यनारायण ने कहा, "पहली इकाई से इस वक्त करीब 190 मेगावाट बिजली का उत्पादन हो रहा है। कुछ समय बाद इसका रखरखाव भी किया जाना है, जिसके बाद यह इकाई पूरी क्षमता से काम करने लगेगी।"

उन्होंने कहा कि पिछले साल मैप्स ने 320.5 करोड़ यूनिट बिजली का उत्पादन किया था।

सत्यनारायण ने बताया कि मैप्स ने अपने सामुदायिक विकास कार्यक्रम के तहत मछुआरों के बीच कृत्रिम रीफ की आपूर्ति की, जिससे उन्हें लाभ मिला है।

उन्होंने कहा, "कंक्रीट संरचनाओं को समुद्र में डाला गया है, जिससे मछलियों का सुरक्षित प्रजनन सुनिश्चित हो सकेगा। इससे पहले हमने कलपक्कम के नजदीक पांच गांवों में कृत्रिम रीफ की आपूर्ति की थी और मछुआरों ने इसके सकारात्मक परिणाम के बारे में बताया था। इस पर 88 लाख रुपये की लागत आई थी।"

उन्होंने कहा कि इस साल भी कलपक्कम के गांवों में कृत्रिम रीफ परियोजना पर 80 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे।

POPULAR ON IBN7.IN