चेन्नई पहुंचा युद्धपोत आईएनएस चेन्नई

 

चेन्नई:  भारत का निर्देशित प्रक्षेपास्त्र विध्वंसक आईएनएस चेन्नई शनिवार को अपने पहले दौरे पर यहां पहुंच गया। रक्षा मंत्रालय से जारी एक बयान के मुताबिक, युद्धपोत पश्चिमी बेड़े का हिस्सा है और इसे पिछले साल भारतीय नौसेना में शामिल किया गया था।

यह मरीना बीच पर शाम को लंगर डालेगा, ताकि लोग इसकी एक झलक देख सकें। सूर्यास्त पर यह रोशनी से जगमगाता नजर आएगा।

163 मीटर लंबा और 7,500 टन वजनी युद्धपोत देश में बने सर्वाधिक प्रभावशाली युद्धपोतों में से एक है।

युद्धपोत में चार शक्तिशाली गैस टरबाइन की मदद से 30 नॉट्स की गति की रफ्तार हासिल कर सकते हैं।

युद्धपोत में सतह से सतह पर तथा सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलों सहित अत्याधुनिक हथियार व सेंसर भी हैं। इसमें आधुनिक निगरानी रडार भी है।

बयान में कहा गया है कि युद्धपोत में पनडुब्बी रोधी युद्धक क्षमताएं भी हैं, जो स्वदेशी विकसित रॉकेट लॉन्चर तथा टॉरपीडो लॉन्चर्स से प्रदत्त हैं।

बयान के अनुसार, यह परमाणु, जैविक व रासायनिक युद्धक परिस्थितियों में भी लड़ने में सक्षम है।

  • Agency: IANS