उपचुनाव के नतीजों ने बढ़ाईं वसुंधरा की मुश्किलें, पार्टी मांग सकती है रिपोर्ट

अलवर और अजमेर लोकसभा और मांडलगढ़ विधानसभा पर हुए उपचुनाव में बीजेपी की हार अब सीएम वसुंधरा राजे के लिए मुसीबत बन गई है. बात अब उनके मुख्यमंत्री की कुर्सी तक पहुंच गई है. सूत्रों की माने तो राजस्थान की तीनों सीटों पर हुई बड़ी हार को लेकर बीजेपी आलाकमान अब सीएम वसुंधरा राजे से रिपोर्ट तलब कर सकता है.

बता दें कि अलवर उपचुनाव में कांग्रेस 1 लाख 96 हजार वोटों से जीती. अजमेर उपचुनाव में कांग्रेस को 86 हजार वोटों से जीत मिली वहीं मांडलगढ़ विधानसभा में भी कांग्रेस करीब 13 हजार वोटों से जीती.

हार जीत के इसी आंकड़े को चुनाव के एक्सपर्ट यशवंत देशमुख विधानसभा चुनाव के हार जीत के गणित में बदला तो आंकड़ें बीजेपी को बेचैन करने वाले बनते हैं. यानी यही ट्रेंड रहा तो फिर बीजेपी को 200 में से सिर्फ 53 सीटों पर जीत मिलेगी, जबकि कांग्रेस को 140 सीटें मिल सकती हैं.

यही वजह है कि हार के बाद पार्टी में वसुंधरा का विरोध तेज हो गया. सूत्र इशारा कर रहे हैं कि अगर वसुंधरा को हटाया गया तो अगला सीएम कोई सांसद होगा. राजस्थान विधानसभा का चुनाव 2019 के लोकसभा चुनाव से ठीक पहले होना है. माना जा रहा है कि बीजेपी पीएम मोदी के मिशन 2019 को पूरा करने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है.

POPULAR ON IBN7.IN