यौन शोषण में फंसे फलाहारी बाबा : पीड़ित बोली- जान को खतरा, अलवर पुलिस ही एक दिन में छत्तीसगढ़ से आने का डाल रही है दबाव

रायपुर: राजस्थान के अलवर में रहने वाले प्रपन्नाचार्य महाराज उर्फ फलाहारी बाबा के खिलाफ यौन शोषण का आरोप लगाने वाली पीड़िता ने एनडीटीवी से खास बातचीत में कहा है कि उसे अलवर पुलिस की ओर से फोन आया है कि आज ही थाने बुलाया गया है. पीड़िता ने कहा कि उसे डर लग रहा है कि क्योंकि मामला बहुत पेचीदा और गंभीर है. पीड़िता ने  कहा  ' मुझे न्याय प्रणाली से यही आशा है कि मेरे मामले को गंभीरता से लिया जाएगा और मुझे न्याय मिलेगा. मैं ये भी चाहती हूं कि मुझे न्याय मिले और जो मेरे साथ हुआ है वो किसी और लड़की के साथ ना हो.'

पीड़िता ने आगे कहा 'मुझे बाबा से जान को खतरा है.' फिलहाल उसकी बातों को सुनने के बाद ऐसा लग रहा है कि अगर अलवर पुलिस ने इसी अंदाज में उसे फोन किया है तो निश्चित तौर पर पीड़िता के ऊपर दबाव बनाने की कोशिश की जा रही है और उसे एक ही दिन में छत्तीसगढ़ से अलवर पहुंचकर बयान दर्ज कराने की बात कर रही है. वहीं इससे पहले जैसे ही आरोपी फलाहारी बाबा को इस बात का पता चला कि छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में उनके खिलाफ पीड़िता की ओर से मामला दर्ज कराया गया है वह तुरंत ही अस्पताल में भर्ती हो गए और आईसीयू में होने की वजह से उनका बयान नहीं लिया जा सका.

आपको बता दें कि राजस्थान के अलवर के जाने-माने बाबा 77 साल के कौशलेंद्र प्रपन्नाचार्य फलाहारी महाराज पर दुष्कर्म का आरोप लगा है. छत्तीसगढ़ के बिलासपुर की रहने वाली 21 साल की एक लड़की ने कौशलेंद्र प्रपन्नाचार्य पर बिलासपुर थाने में ही ज़ीरो एफआईआर दर्ज करवाया. पीड़िता के बयान के बाद केस डायरी अलवर थाने में भिजवा दी गई है. अब अलवर पुलिस ने तथाकथित बाबा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है. आरोपी बाबा के कई बड़े नेताओं से संपर्क थे. वह सिर्फ फल ही खाते हैं इसलिए उनका नाम फलाहारी बाबा पड़ा.

POPULAR ON IBN7.IN