राम मन्दिर कानूनी ढंग से या आपसी संवाद से बनना चाहिए : बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह

जयपुर: राजस्थान में इस साल के अंत तक विधानसभा चुनाव  संपन्न होने हैं. बीजेपी सत्ता में है और यह प्रयास करेगी कि वह सत्ता में बरकरार रहे है. यह अलग बात है कि राजस्थान में अभी तक सत्ता परिवर्तन होता आया है. इसी बात के चलते बीजेपी ने इस बार चुनाव जीतने के लिए रणनीति पर काम शुरू कर दिया है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने जयपुर का दौरा किया और पार्टी नेताओं के साथ बैठक की.

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने जयपुर में मीडिया से बात करते हुए कहा कि पार्टी का मत है कि लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ हों. शाह ने जयपुर में अपने प्रवास के दूसरे दिन पार्टी प्रदेश मुख्यालय में संवाददाताओं से बातचीत में एक प्रश्न के जवाब में कहा कि भाजपा की यह मान्यता है ही, सरकार की भी मान्यता है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस विषय को सभी दलों के सामने रखा है, इस पर सार्वजनिक बहस करके चुनाव आयोग के पास सभी दलों को जाना चाहिए.

अनुसूचित जाति जनजाति में क्रीमीलेयर के बारे में : उन्होंने अनुसूचित जाति जनजाति में क्रीमीलेयर के बारे में किए प्रश्न के जवाब में कहा कि इस मुददे पर सभी दलों से विचार करने के बाद उसके लिए कानून बनाना चाहिए . शाह ने किसानों के कर्जे माफी पर कहा कि इस बारे में केन्द्र सरकार को कुछ नहीं सोचना है, वित्तमंत्री इस बारे में स्पष्ट कर चुके हैं कि राज्य सरकारें अपने अपने स्तर पर इस पर विचार करके निर्णय लें.

उन्होंने गौहत्या को लेकर सवाल पर कहा कि जहां जहां भाजपा की सरकारें है वहां गौहत्या पर रोक का कानून बना हुआ है, जहां तक गोवा के मुख्यमंत्री की ओर से बीफ को लेकर आये बयान का सवाल है वह मेरी संज्ञान में नहीं है.

राममन्दिर निर्माण को लेकर पार्टी की राय स्पष्ट : भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि दलितों में भाजपा की स्थिति अच्छी है. उन्होंने राममंदिर निर्माण को लेकर कहा कि राममन्दिर निर्माण को लेकर पार्टी की राय स्पष्ट है और इसका उल्लेख एक नहीं चार लोकसभा चुनाव के घोषणापत्र में है. उन्होंने कहा कि राम मन्दिर कानूनी ढंग से या आपसी संवाद से बनना चाहिए. 

भाजपा सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं : शाह ने केन्द्र की पूर्ववर्ती सरकार का नाम लिये बिना कहा कि मुझे यह कहते हुए हर्ष है कि एक ऐसी सरकार थी जो हर महीने-दूसरे महीने भष्टाचार या घोटाले के आरोप के लिए जानी जाती थी लेकिन विगत तीन साल के दौरान भाजपा के विरोधी भी नरेन्द्र मोदी या भाजपा सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा सके हैं. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार पारदर्शी फैसले लेने वाली सरकार है जिसके कारण भारत दुनिया में सबसे तेज बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था के रूप में जाना जाता है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आजादी के बाद से सबसे लोकप्रिय नेता बनकर उभरे हैं. सरकार बनने के बाद जिस प्रकार से भाजपा को एक के बाद एक जनादेश मिला है वह यही बताता है कि भाजपा के कामकाज की सराहना जनता कर रही है .

उन्होंने कहा कि जीएसटी का सपना साकार हुआ है हम कभी भी जीएसटी के विरोध में नहीं थे हमारा विरोध जिस ढंग से उसे लागू किया जा रहा था, उसको लेकर था.

मोदी सरकार पर कोई दवाब नहीं है: शाह ने जम्मू कश्मीर में पत्थरबाजी की घटनाओं को लेकर प्रश्न के जवाब में कहा कि मोदी सरकार पर कोई दवाब नहीं है और कश्मीर में पत्थरबाजी की घटनाएं कम हुई हैं. शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने नोटबंदी का साहसिक फैसला लिया तो सर्जिकल स्ट्राइक करके राजनैतिक इच्छाशक्ति का उदाहरण देश के समक्ष रखा. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने उज्जवला योजना के तहत ढाई करोड़ गरीब परिवारों को रसोई गैस कनेक्शन और साढ़े चार करोड़ गरीबों के घर में शौचालय निर्माण का काम किया है. शाह ने कहा कि भाजपा गुजरात विधानसभा चुनाव में डेढ़ सौ सीटों से अधिक सीटे जीतेगी.

POPULAR ON IBN7.IN