डीजे अदा गिरफ्तार: फेसबुक लाइव कर फंसी, रेप के नाम पर डॉक्टर से वसूले थे एक करोड़ रुपये

सोशल मीडिया साइट फेसबुक अक्सर लोगों को शोहरत की बुलंदियों पर पहुंचाने में मदद करता है लेकिन इस बार किसी मशहूर सख्स को हवालात के अंदर पहुंचाने में पुलिस की मदद फेसबुक ने की है। दरअसल, मुंबई के एक होटल में बतौर डीजे काम करने वाली 21 वर्षीय शिखा तिवारी उर्फ डीजे अदा को राजस्थान पुलिस की स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप (एसओजी) ने एक करोड़ रुपये लेकर भागने के आरोप में गिरफ्तार किया है। खास बात ये है कि जब आरोपी डीजे फेसबुक लाइव कर रही थी तब पुलिस ने उसकी लोकेशन डिटेल्स ट्रैक कर उसे धर दबोचा। आरोपी डीजे को एसओजी दिसंबर 2016 से से ही ढूंढ़ रही थी जब उसका नाम हनी ट्रैपिंग में जुड़ा था।

इंडिया टुडे के मुताबिक आरोपी शिखा तिवारी ब्लैकमेलिंग करने वाले उस गैंग की सदस्य है जो रियल एस्टेट एजेंट्स, डॉक्टर्स वगैरह को जाल में फंसाता है। पुलिस ने इस गैंग के 33 लोगों को अब तक पकड़ा है, इनमें पांच महिलाएं शामिल हैं। इस रैकेट पर करीब 20 करोड़ रुपये लोगों को ट्रैप कर वसूलने का आरोप है।

जयपुर के डॉक्टर सुनीत सोनी उन लोगों में शामिल हैं जो इस गिरोह के शिकार हो चुके हैं। शिखा तिवारी से डॉक्टर सुनीत की मुलाकात उसी की क्लिनिक में हुई थी जब वो हेयर ट्रांसप्लांट कराने के लिए उससे मिली थी लेकिन शिखा ने जल्द ही उसे अपनी गिरफ्त में ले लिया और सुनीत के काफी नजदीक आ गई। कुछ दिनों बाद ये दोनों पुष्कर गए, जहां शिखा ने सुनीत को रेप के झूठे आरोप में फंसाने की धमकी देकर उससे 2 करोड़ रुपये की मांग की। उसने धमकी दी कि अगर पैसे नहीं दिए तो पुलिस में रेप की शिकायत कर देगी।

जब डॉक्टर ने पैसे देने से मना किया तो शिखा ने पुलिस में रेप की शिकायत दर्ज करा दी। इसके बाद वो 78 दिनों तक जेल में बंद रहा। इसके बाद पीड़ित डॉक्टर ने भी 24 दिसंबर 2016 को शिखा के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद डॉक्टर ने तय किया कि वो 21 वर्षीय डीजे के साथ मामले को सुलझा लेगा। डॉक्टर ने इसके लिए डीजे को  एक करोड़ पांच लाख रुपये भी दिए लेकिन वो पैसे लेकर मुंबई भाग गई, यह सोचकर कि वो पकड़ी नहीं जाएगी लेकिन फेसबुक लाइव उसके लिए काल बनकर आया। अब वो राजस्थान पुलिस की गिरफ्त में है। पुलिस जिसे कई महीने से तलाश रही थी उसतक फेसबुक ने आसानी से पहुंचा दिया।