वसुंधरा राजे ने शुरू की अन्नपूर्णा रसोई, 5 रुपए में नाश्ता और 8 रुपए में खाना खिलाने का वादा

तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिला से प्रेरणा लेते हुए राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे ने गुरुवार को राज्य में सब्सिडी वाली भोजन योजना शुरू की है। मुख्यमंत्री ने इस योजना का नाम अन्नपूर्णा रसोई रखा है, जिसकी टैगलाइन है: “सबके लिए भोजन, सबके लिए सम्मान।” योजना के तहत 5 रुपए में नाश्ता और 8 रुपए में खाना खिलाने का वादा किया गया है। योजना का उद्देश्य लेबर, रिक्शा चालक, ऑटो-रिक्शा चालक, छात्रों, कामकाजी महिलाओं, वरिष्ठ लोगों को कम कीमत में खाना उपलब्ध कराना है।

योजना की लॉन्चिंग के बाद सरकार ने एक बयान जारी किया। इसमें कहा गया, “मुख्यमंत्री ने जयपुर म्युनिसिपल कार्पोरेशन कैंपस में एक दलित और एक गुर्जर महिला को निवाला खिलाकर इस योजना की शुरुआत की। उन्होंने किरन और कैलाशी गुर्जर को बाजरे की रोटी, लहसुन की चटनी और बेसन गेट की सब्जी वाला भोजन कराया। इस दौरान शहरी विकास एवं आवास विभाग मंत्री श्रीचंद कृप्लानी, बीजेपी स्टेट प्रेसिडेंट और विधायक अशोक परमानी व मेयर अशोक लाहोती भी मौजूद थे।”

योजना के तहत स्पेशन वैन के जरिए अलग-अलग जगहों पर खाना उपलब्ध कराया जाएगा, इस काम के लिए फिलहाल 80 वैन लगाई गई हैं। योजना को 12 जिलों के डिविजनल हेडक्वार्टर में लॉन्च किया गया, इसके तहत पूरे राज्य में सुविधा का लाभ देने की कोशिश की जाएगी। आने वाले समय में जयपुर में ऐसी 25 वैन होंगी, झालावार में 6, वहीं जोधपुर, उदयपुर, अजमेर, कोटा, बिकानेर और भरतपुर में 5-5 वैन होंगी। इसके अलावा डुंगरपुर और बंसवाड़ा में 4 वैन होंगी साथ ही प्रतापगढ़, बैरन में 3 वैन लगाई जाएगीं।

अन्नपूर्णा रसोई योजना के लिए राजस्थान के लोकस सेल्फ गवर्मेंट डिपार्टमेंट को नोडल एजेंसी बनाया गया है। खाना बनाने और परोसने का काम करने के लिए ट्रेनिंग ले चुके स्टाफ को रखा गया है। वैन के आसपास बैठने की व्यवस्था तो होगी ही, साथ ही काम करने वाला स्टाफ दस्ताने, टोपी और एप्रन समेत पूरी यूनिफॉर्म पहने होगा। एक अधिकारी ने बताया कि सरकार को ब्रेकफास्ट का खर्च 21.70 रुपए और खाने का खर्च 23.70 रुपए आएगा, जो आम लोगों को 5 और 8 रुपए में दिया जाएगा, बाकी कीमत पर सब्सिडी मिलेगी।

  • Agency: IANS