रणथंभौर में बाघ के हमले के बाद दहशत

जयपुर: राजस्थान के रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान में गुरुवार को एक बाघिन के हमले में दो लोग घायल हो गए। घटना के बाद से यहां दहशत फैली है। वन विभाग के एक अधिकारी ने बताया, "घटना सुबह छह बजे की है। जयपुर से 170 किलोमीटर दूर सवाई माधोपुर जिले के खंडर क्षेत्र में बाघिन ने हमला किया।"

घायलों की पहचान सतीश एवं कुलदीप के रूप में की गई है, जो वहां रहने वाले ग्रामीण हैं। सतीश को जयपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, क्योंकि हमले में उसके सिर के पास बाघिन का पंजा लगा है और उसे त्वचा विशेषज्ञों से इलाज की जरूरत है।

इससे पहले आठ मई को रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान में ही एक बाघ ने वन रक्षक को मार डाला था।

इस उद्यान में 60 बाघ और शावकों के अलावा चीता, नीलगाय, जंगली सूअर, सांभर, हाइना, भालू और चीतल जैसे वन्यजीवों का निवास है। इसके अलावा रणथंभौर के घने जंगल में कई तरह के पक्षी और सरीसृप भी पाए जाते हैं।

रणथंभौर को 1973 में प्रोजेक्ट टाइगर रिजर्व घोषित किया गया था और 1980 में इसे राष्ट्रीय उद्यान घोषित कर किया गया। रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान का इलाका 1,300 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

 

POPULAR ON IBN7.IN