इंदिरा गांधी के हत्यारों के परिजन सम्मानित

अमृतसर: पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के दो हत्यारों के परिवारों को सिख कट्टरपंथी संगठन और कुछ धार्मिक नेताओं ने स्वर्ण मंदिर परिसर में गुरुवार को सम्मानित किया। बेअंत सिंह और सतवंत सिंह ने 29 साल पहले 31 अक्टूबर 1984 को दिल्ली में इंदिरा को उनके आधिकारिक आवास में गोली मार दी थी। हत्यारों के परिवारों को शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (एसजीपीसी) के अधिकारियों के सामने अकाल तख्त के प्रमुख और कट्टरपंथी सिख संगठन दमदमी टकसाल और दल खालसा के नेताओं ने सम्मानित किया।

बेअंत सिंह के बेटे सरबजीत सिंह को चांदी का फलक दिया गया। हत्या की साजिश बनाने में दोषी पाए गए केहर सिंह के बेटे को भी सम्मानित किया गया।

सभा को संबोधित करते हुए कट्टरपंथी नेताओं ने एसजीपीसी से स्वर्ण मंदिर के अंदर तीनों के लिए स्मारक बनाने का अनुरोध किया। एक प्रस्ताव पारित कर उसे लागू करने के लिए अकाल तख्त के जत्थेदार को सौंप दिया गया है।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN