प्रकाश सिंह बादल : भगोड़े नेताओं के सहारे चुनावी वैतरणी में उतर रही है कांग्रेस तो डूबेगी ही

जालंधर : पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने  कहा है कि राज्य में सरकार बनाने की बेचैनी के कारण विपक्षी दल, शिरोमणि अकाली दल को तेजी से अपनी पार्टी में शामिल करवा रहे हैं.

मंगलवार को जालंधर छावनी विधानसभा क्षेत्र में संगत दर्शन करने आए प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने संवादाताओं से बातचीत में कहा कि जिन नेताओं ने टिकट और महज पद के लिए अपनी मूल पार्टी के साथ गद्दारी की है, वे जीवन में कभी सफल नहीं हो सकते. ऐसे नेता पार्टी के उन बिगडैलों बेटों की तरह हैं जिनका उनकी पार्टी ने लंबे समय तक लालन-पालन किया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि नेतृत्व संकट से गुजर रही कांग्रेस पार्टी ऐसे ही नेताओं पर आत्मनिर्भर हो रही है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस दल-बदलू और आधारहीन नेताओं के भरोसे चुनावी वैतरणी में उतर रही है, तो डूबेगी ही.

प्रदेश में ऐसे नेताओं का समर्थन नहीं करने की अपील करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस तरह के दल-बदलू और भगोड़े नेता जनादेश को हल्के में लेते हैं और सत्तासुख भोगने के लिए निर्बाध रूप से पार्टी बदलते रहते हैं. उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है जब प्रदेश की जनता, ऐसे नेताओं को बाहर का दरवाजा दिखाए, क्योंकि ऐसे नेताओं को न तो पार्टी से और न ही जनता से कोई मतलब होता है.

उन्होंने जोर देकर कहा कि जिन नेताओं ने सत्ता के लोभ में अपनी मूल पार्टी के साथ धोखा किया है, वे विश्वसनीय नहीं होते हैं और ऐसे नेताओं को निश्चित रूप से दरवाजा दिखा दिया जाना चाहिए.

प्रदेश में चल रहे विकास को जारी रखने के लिए आगामी विधानसभा चुनावों में मौजूदा सरकार का समर्थन करने की अपील करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र के सहयोग से सूबे में अप्रत्याशित विकास कार्य किए गए हैं और इन्हें जारी रखने के लिए शिअद-भाजपा गठबंधन का सरकार में बने रहना जरूरी है.  

पंजाब सरकार की दस साल की उपलब्धियां गिनाते हुए बादल ने कहा कि शिअद-भाजपा गठबंधन को ही सही मायने में पंजाब के लोगों के साथ हमदर्दी है जबकि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी अवसरवादियों और पंजाब विरोधी लोगों का एक समूह भर है.  

विमुद्रीकरण का समर्थन करते हुए उन्होंने कहा कि यह लोगों के हित में उठाया गया कदम है और यह लोगों के लिए वरदान साबित होगा. उन्होंने कहा कि मौजूदा समस्या एक पखवाड़े के भीतर समाप्त हो जाएगी.

  • Agency: IANS