पंजाब: मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से हुआ सामना तो नजरें बचाकर निकल गए नवजोत सिंह सिद्धू

बीजेपी छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की अपने ही मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ अनबन की खबरें सामने आती रही हैं। ऐसा ही कुछ हुए शनिवार को एक कार्यक्रम के दौरान। इस कार्यक्रम में दोनों मौजूद थे, लेकिन एक दूसरे से दूर-दूर ही रहे। दोनों एक एक-दूसरे से नजरें बचाते दिखे। सिद्धू करीब आधे घंटे तक प्रोग्राम में थे और मुख्‍यमंत्री के वहां मौजूद रहने के बावजूद वहां से चले गए। पूरा मामला पटियाला के यादविंदरा पब्लिक स्कूल (वाईपीएस) के स्थापना दिवस समारो‍ह का है। कार्यक्रम में मंच पर सीएम पहली तो सिद्धू दूसरी कतार में बैठे। पूरे कार्यक्रम में दोनों ने एक-दूसरे की तरफ देखा तक नहीं। जैसे ही कैप्टन स्टेज पर आए तो उसके कुछ देर बाद ही सिद्धू कार्यक्रम को बीच में छोड़कर चले गए। जाते हुए वह पूर्व केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री परनीत कौर से तो मिले, लेकिन कैप्टन से नहीं मिले। वहां बैठे मेहमानों ने भी हैरानी जताई कि मुख्यमंत्री के समारोह में होने के बावजूद सिद्धू चले गए। इतना ही नहीं, समारोह के बारे में जो प्रेस विज्ञप्ति जारी की गई उसमें भी सिद्धू का कहीं कोई जिक्र नहीं था। बताया जा रहा है कि सिद्धू प्रोग्राम से निकलने के बाद पटियाला में ही देर शाम तक थे।

आपको बता दें कि अमृतसर, जालंधर व पटियाला नगर निगम के मेयरों के चयन में खुद को नजरअंदाज किए जाने के बाद सिद्धू ने खुलकर नाराजगी जाहिर की थी। सबसे ज्यादा नाराजगी उनको अमृतसर के मेयर को लेकर थी क्योंकि सिद्धू वहीं से विधायक भी हैं।