राम रहीम को सजा होते ही बदले 18 लड़क‍ियों के भाग्‍य, डेरा सच्‍चा सौदा आश्रम से कराई गईं मुक्‍त

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को रेप के दो मामलों में सजा होने के बाद आश्रम की 18 लड़कियों का भाग्य बदल गया। 18 लड़कियों को डेरा के मुख्यालय सरसा से मुक्त कराया गया है। स्थानीय प्रशासन की एक टीम ने आश्रम से बचाने के बाद लड़कियों को मेडिकल जांच के लिए भेजा है। अब यह माना जा रहा है कि इस बलात्कारी बाबा के खिलाफ ये 18 लड़कियां भी कुछ बड़े खुलासे कर सकती हैं। सोमवार (28 अगस्त) को सीबीआई की विशेष अदालत ने गुरमीत राम रहीम को अपने दो अनुयायियों के साथ रेप के दो मामलों में 20 साल की सजा सुनाई थी। इतना ही नहीं राम रहीम पर 15-15 लाख (कुल 30 लाख रुपये ) का जुर्माना भी लगा है। अदालत ने यह भी कहा है कि राम रहीम ने भोले भाले अनुयायियों का यौन उत्पीड़न किया। जज ने राम रहीम को जंगली जानवर बताते हुए कहा था कि उन पर कोई रहम नहीं किया जा सकता।

जज ने कहा कि पीड़ित लड़कियों ने डेरा प्रमुख को भगवान माना, लेकिन उसने गंभीर धोखा किया। एक धार्मिक गुरु के रूप में उन्‍होंने धरती की विरासत को नुकसान पहुंचाया है। सीबीआई अदालत के जज ने कहा कि एक ऐसे व्यक्ति को नरमी पाने का कोई हक नहीं है जिसे न तो इंसानियत की चिंता है और न ही उसके स्वभाव में दया-करूणा का कोई भाव है।

उन्होंने कहा कि किसी धार्मिक संगठन की अगुवाई कर रहे व्यक्ति की ओर से किए गए ऐसे आपराधिक कृत्य से देश में सदियों से मौजूद पवित्र आध्यात्मिक, सामाजिक, सांस्कृतिक एवं धार्मिक संस्थाओं की छवि धूमिल होना तय है।

डेरा के प्रभाव वाले हरियाणा व पंजाब के संवेदनशील इलाकों में सुरक्षा बल अब भी सर्तकता बरते हुए हैं। हालांकि, इन इलाकों में कोई कर्फ्यू नहीं है। डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सीबीआई की विशेष अदालत के न्यायाधीश जगदीप सिंह लोहाना ने 25 अगस्त को हरियाणा के पंचकूला में दुष्कर्म का दोषी करार दिया। इसके बाद डेरा अनुयायियों ने पंचकूला में भारी हिंसा फैलाई थी। इसमें पंचकूला में 30 व सरसा में 8 लोगों की मौत हो गई व 250 से ज्यादा लोग घायल हो गए।

POPULAR ON IBN7.IN