डेरा प्रेमियों से स्टैम्प पर लिखवाते थे, नुकसान हो तो डेरा को जिम्मेदार न मानें

सिरसा: सिरसा में डेरा प्रेमी गुरमीत राम रहीम को  अपना तन मन सौंप चुके हैं. डेरा ने लोगों से स्टैम्प पेपर पर लिखवा रखा था कि वह अपनी इच्छा अनुसार डेरा में हैं. अगर उनको किसी भी तरीक़े का नुक़सान पहुंचता है तो उनके घर वाले डेरा को ज़िम्मेदार ना मानें. ऐसा ही ऐफिडेविट मिला है जिससे इस बात का खुलासा हुआ है. इस बात का भी पता चला है कि पिछले 10 साल से ऐसा ऐफिडेविट बनावाया जा रहा था. इसमें लिखा है कि डेरा प्रेमी अपनी इच्छा अनुसार डेरा में हैं. अगर उनको किसी तरह का नुकसान हो तो उनके घरवाले डेरा को ज़िम्मेदार न मानें.
 

stamp paper


नुकसान पहुंचने के लिए घरवाले जिम्मेदार नहीं
  एक महिला का ऐफिडेविट है, जिसमें स्टैम्प लगा हुआ. जिस पर डेरा प्रेमी का नाम, पूरा पता लिखा हुआ है. साथ ही इस बात का भी जिक्र है कि उसको पहुंचे किसी भी नुकसान के लिए डेरा को जिम्मेदार न माने. इसमें लिखा हुआ है कि अगर डेरा की सेवा करते हुए मेरी मौत भी हो जाती है तो इसकी जिम्मेदार मैं खुद होंगी.

आर्मी ने बनाया प्लान-बी
उधर, सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के हेडक्वार्टर को लेकर आर्मी ने अपने प्लान में बदलाव किया है. आर्मी ने तय किया है कि अब डेरा के हेडक्वार्टर से किसी भी समर्थक को बाहर नहीं आने दिया जाएगा. साथ ही अगले 48 घंटे तक आर्मी भी डेरा हेडक्वार्टर में नहीं दाखिल होगी. सेना से जुड़े सूत्रों ने  बताया कि डेरा से बाहर निकल रहे लोगों से एक बार फिर से उपद्रव होने की आशंका है. इसी को ध्यान में रखते हुए प्लान में बदलाव किया गया है. गौरतलब है कि साध्वी से रेप के 15 साल पुराने मामले में शुक्रवार का पंचकूला की सीबीआई अदालत ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दोषी ठहराया गया था. इसके बाद राम रहीम के समर्थकों ने सिरसा, पंचकूला सहित सहित कई जगहों पर उत्पात और हिंसा की थी, जिसमें 36 लोगों की मौत हो गई थी.

POPULAR ON IBN7.IN