सिरसा : डेरा हेडक्वॉर्टर के निकट सेना मौजूद, एसडीएम ने कहा- परिसर में प्रवेश का आदेश नहीं

सिरसा: सिरसा के सब-डिवीजनल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) परमजीत सिंह चहल ने कहा है कि सेना को डेरा सच्चा सौदा मुख्यालय में प्रवेश का आदेश नहीं दिया गया है वहीं गुरमीत राम रहीम केनाराज अनुयायी परिसर में जमे हुए हैं. यौन शोषण के मामले में राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद भड़की हिंसा के बीच सेना और दंगा रोधी पुलिस बल डेरा सच्‍चा सौदा हेडक्‍वार्टर के पास भारी संख्‍या में उपस्थित हैं. इस बीच पुलिस ने डेरा सच्‍चा सौदा के पास से एक समर्थक को पकड़ा है. उसके पास से दो एके-47, कुछ पिस्‍तौल और मैगजीन बरामद किए गए हैं. वह कार में था और पीछे के रास्‍ते से डेरा में घुसने की फिराक में था.

चहल ने कहा, ‘सेना को परिसर में प्रवेश का अभी तक कोई आदेश नहीं दिया गया है. सेना को केवल इलाके में कर्फ्यू लागू करने के आदेश हैं.’ सेना ने पुलिस एवं अर्द्धसैनिक बलों के साथ मिल कर डेरा सच्चा सौदा परिसरों के प्रवेश स्थलों पर अवरोधक लगाये हैं.

सेना एवं अधिकारियों ने डेरा अनुयायियों से यहां से जाने की अपील की है. राम रहीम को बलात्कार का दोषी ठहराये जाने के बाद कल हुई हिंसा के बाद सेना ने पुलिस के साथ मिलकर डेरा सच्चा सौदा परिसरों के प्रवेश स्थानों पर अवरोधक लगाये थे.

चहल ने बताया कि दोपहर में सेना और राज्य के अधिकारियों के बीच एक उच्च स्तरीय बैठक चल रही है. महिलाओं एवं बच्चों समेत करीब एक लाख लोग डेरा मुख्यालय में मौजूद हैं। सेना और जिले के अधिकारी लाउडस्पीकरों के माध्यम से परिसर के अंदर मौजूद लोगों से वहां से हटने के लिये कह रहे हैं. पुलिस ने बताया कि बीती रात से अब तक यहां 15 डेरा अनुयायियों को गिरफ्तार किया गया है.

हिसार के महानिरीक्षक (आईजी) एएस डिल्लो ने कहा, ‘कानून को अपने हाथ में लेने वाले लोगों को बख्शा नहीं जायेगा. हम उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे.’ सूत्रों ने बताया कि सेना को बीती रात विशाल डेरा परिसर का मानचित्र उपलब्ध कराया गया था. करीब 1,000 एकड़ में फैला परिसर अपने आप में एक बस्ती की तरह है जिसमें स्कूल, खेल गांव, अस्पताल और सिनेमा हॉल हैं.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने अपना नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया कि सेना अपने विकल्पों पर विचार कर रही है. पुलिस ने बताया कि यहां कल रात से 15 डेरा अनुयायियों को गिरफ्तार किया गया है. हिसार के महानिरीक्षक (आईजी) ए एस डिल्लो ने कहा, ''कानून को अपने हाथ में लेने वाले लोगों को बख्शा नहीं जायेगा. हम उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे.'' महिलाओं एवं बच्चों समेत करीब एक लाख लोग अब भी डेरा मुख्यालय में मौजूद हैं. सेना और जिला अधिकारी लाउडस्पीकरों से घोषणाएं कर रहे हैं और लोगों से परिसर छोड़ने की अपील कर रहे हैं.

सूत्रों ने बताया कि सेना को बीती रात विशाल डेरा परिसर का मानचित्र उपलब्ध कराया गया था. करीब 1,000 एकड़ में फैला परिसर अपने आप में एक बस्ती की तरह है जिसमें स्कूल, खेल गांव, अस्पताल और सिनेमा हॉल हैं.

POPULAR ON IBN7.IN