पंजाब के लोगों को गुमराह कर रही है आप : अमरिंदर

नई दिल्ली:  पंजाब की कांग्रेस इकाई के अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को आम आदमी पार्टी (आप) पर पंजाब के लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए कहा कि आप की सरकार बनने पर केजरीवाल को पंजाब का मुख्यमंत्री बनाए जाने के संकेत से आप का झूठ खुलकर सामने आ गया है। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मोहाली में एक रैली में कहा कि लोग केजरीवाल को ही मुख्यमंत्री उम्मीदवार समझकर वोट दें। इसके बाद कैप्टन अमरेंद्र की यह टिप्पणी सामने आई है।

अमरिंदर ने कहा, "केजरीवाल के इरादे खुलकर सामने आ गए हैं और साफ हो गया है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री कितने बड़े झूठे हैं।"

उन्होंने कहा कि आप नेता सरेआम पंजाब के लोगों की भावनाओं के साथ खेल रहे हैं।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने जोर देते हुए कहा, "केजरीवाल के नेतृत्व में आप का पूरा चुनाव प्रचार झूठ की बुनियाद पर खड़ा है। चुनाव प्रचार में किए गए वादे पूरी करने की उनकी कोई मंशा नहीं है।

अमरिंदर ने कहा, "दिल्ली के लोगों से धोखेबाजी के लिए जाने जाने वाले केजरीवाल, अब पंजाब की सत्ता हथियाने के लिए दिल्ली जैसे तरीके अपना रहे हैं।" उन्होंने लोगों से केजरीवाल के 'झूठे दावों के झांसे' में न आने की अपील की।

उन्होंने कहा, "पंजाब के मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवारी से लेकर सरयू यमुना लिंक (एसवाईएल) नहर व अन्य मुद्दों पर बयानबाजी कर आप ने लोगों को धोखा देने का प्रयास किया। आप राज्य की सत्ता हासिल करने की निराशापूर्ण कोशिश में लोगों को धोखा देने का प्रयत्न कर रही है, ताकि वह दिल्ली में अपनी घटिया योजनाओं को अमली जामा पहनाने में असफल रहने के बाद अब पंजाब में अपने व्यक्तिगत हितों को साध सके।"

अमरिंदर ने कहा कि हाल ही के महीनों में केजरीवाल के कई नेताओं को भ्रष्टाचार व सेक्स स्कैंडल में संलिप्त पाया गया है और वह उनकी गलत हरकतों के प्रति अपनी आंखें मूंदे हुए हैं।

उन्होंने कहा कि पंजाब में आप के पास अपना कैडर भी नहीं है और वे चुनावों के दौरान काम करने के लिए दूसरे राज्यों से लोगों को ला रहे हैं।

कैप्टन अमरिंदर ने लोगों से अपील की है कि 4 फरवरी को अपने वोट के जरिए वह केजरीवाल को यह स्पष्ट संकेत दें कि व्यक्तिगत हितों की पूर्ति के लिए उन्हें बेवकूफ नहीं बनाया जा सकता।

  • Agency: IANS
Poker sites http://gbetting.co.uk/poker with all bonuses.