दिल्ली दुष्कर्म मामला : घटनाक्रम पर एक नजर

नई दिल्ली, 11 मार्च (आईएएनएस)| दिल्ली सामूहिक दुष्कर्म मामले के मुख्य आरोपी राम सिंह ने दिल्ली की तिहाड़ जेल में सोमवार की सुबह खुदकुशी कर ली। इस जघन्य वारदात के बाद के घटनाक्रम पर आइए एक नजर डालें : 16 दिसंबर, 2012 : नई दिल्ली में एक चलती बस में 23 वर्षीया फीजियोथेरेपी की छात्रा के साथ पांच व्यक्तियों और एक नाबालिग लड़के ने दुष्कर्म किया तथा छात्रा के पुरुष मित्र को भी शारीरिक यातना दी। पीड़ितों को सफदरजंग अस्पताल में भर्ती करवाया गया।

  • 18 दिसंबर : सामूहिक दुष्कर्म मामले के खिलाफ दिल्ली में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए।
  • 23 दिसंबर : दिल्ली के इंडिया गेट पर प्रदर्शनकारियों द्वारा निषेधाज्ञा को न मानने से विरोध प्रदर्शन उग्र हो उठा। झड़प में दिल्ली पुलिस के हवलदार सुभाष तोमर बुरी तरह घायल हुए।
  • 25 दिसंबर : गंभीर चोटों के चलते सुभाष तोमर की मौत हो गई।
  • 26 दिसंबर : सामूहिक दुष्कर्म की शिकार युवती की स्थिति नाजुक हो जाने पर दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से उसे विशेष विमान में सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में ले जाया गया।
  • 29 दिसंबर : 13 दिनों तक मौत से संघर्ष करने के बाद दुष्कर्म सहित क्रूरतम यातना की शिकार युवती ने सिंगापुर के अस्पताल में दम तोड़ दिया।
  • 30 दिसंबर : सिंगापुर से युवती का मृत शरीर भारत वापस लाया गया। उसी दिन उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।
  • 28 जनवरी, 2013 : किशोर न्याय बोर्ड ने स्कूल प्रमाणत्र के आधार पर छठे आरोपी को नाबालिग करार दे दिया।
  • दो फरवरी : पांच आरोपियों पर हत्या सहित 13 आरोप तय किए गए तथा उन्हें न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया गया।
  • 28 फरवरी : किशोर न्याय अदालत ने नाबालिग आरोपी पर दुष्कर्म तथा हत्या के आरोप तय किए।
  • 11 मार्च : इस जघन्य कांड के मुख्य आरोपी राम सिंह ने दिल्ली की उच्च सुरक्षा वाली तिहाड़ जेल में खुदकुशी कर ली।


इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN