राम सिंह के वकील ने की जांच की मांग

नई दिल्ली, 11 मार्च (आईएएनएस)| राष्ट्रीय राजधानी में 16 दिसंबर, 2012 की रात चलती बस में 23 साल की युवती के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म के मुख्य आरोपी राम सिंह के वकील ने अपने मुवक्किल की खुदकुशी मामले की पूर्ण जांच की मांग की है। राम सिंह ने सोमवार तड़के तिहाड़ जेल में कथितरूप से खुदकुशी कर ली। वकील ने इस मामले में साजिश की आशंका जाहिर की है। बचाव पक्ष के वकील वी. के. आनंद ने कहा, "अदालत ने राम सिंह को अपने परिजनों से मिलने की अनुमति दी थी। वह उनसे हर दिन मिलता था। मामले की सुनवाई ठीक ढंग से हो रही थी। मुझे समझ नहीं आ रहा कि इस बीच ऐसा क्या हुआ कि उसने खुदकुशी कर ली।"

मामले की पूर्ण जांच कराने की मांग करते हुए आनंद ने कहा, "यह सही है कि शुरुआत में राम सिंह को पुलिस ने प्रताड़ित किया था। लेकिन हाल में उसने किसी तरह की प्रताड़ना की शिकायत नहीं की थी।"

उन्होंने कहा कि वह पिछले शुक्रवार को राम सिंह से मिले थे और वह शांत तथा अच्छे मूड में था। उन्होंने कहा, "न केवल राम सिंह, बल्कि अन्य आरोपी भी अच्छे मूड में थे, क्योंकि मामले की सुनवाई निष्पक्षता से हो रही थी और सबकुछ ठीक तरीके से चल रहा था।"

राम सिंह को साहसी व्यक्ति करार देते हुए आनंद ने कहा, "वह खुदकुशी नहीं कर सकता। उसने कभी अपने परिवार या मुझसे कोई शिकायत नहीं की और वह दबाव में नहीं था।"

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN