दिल्ली-एनसीआर में फिर चली धूल भरी आंधी, सड़क और हवाई यातायात प्रभावित

दिल्ली-एनसीआर में रविवार दोपहर को मौसम एक बार फिर सुहाना हो गया. आसमान में काले घने बादल छाने की वजह से चार बजे शाम में ही अंधेरा हो गया. बादल छाने की वजह से दिन के तापमान में भी कई डिग्री की गिरावट दर्ज की गई. बाद में दिल्‍लीवालों को धूल भरी आंधी के साथ ही बारिश का एक बार फिर सामना करना पड़ा. आंधी इतनी तेज थी कि उसकी वजह से सड़क और हवाई यातायात प्रभावित हुआ. हवाई अड्डे पर विमानों को जहां खड़ा रहना पड़ा वहीं शहर में सड़क यातायात भी प्रभावित हुआ. मौसम विभाग के अनुसार हवाएं 50 से 70 किलोमीटर की रफ्तार से चल रही थीं.

ध्यान हो कि मौसम विभाग ने यूपी और आसपास के राज्यों में अगले 48 घंटे तक आंधी और तूफान की चेतावनी जारी की हई है. धूल भरी आंधी को ध्यान में रखते हुए यूपी सरकार ने गाजियाबाद में रविवार शाम 5 से 8 बजे तक बिजली न रहने की सूचना दी है. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि रविवार का तापमान 30.6 डिग्री सेल्सियस मापा गया. गर्मी की वजह से सुबह साढ़े आठ बजे उमस 60 फीसदी थी.

गौरतलब है कि भारतीय मौसम विभाग ने रविवार को उत्तराखंड, जम्मू - कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में आंधी के साथ बारिश आने की संभावना जताई थी. इस वजह से राजस्थान में धूल भरी आंधी का भी अनुमान जताया गया था. आईएमडी ने कहा था कि नए पश्चिमी विक्षोभ के कारण इन पहाड़ी राज्यों में आंधी और बारिश का अनुमान जताया गया था जिसका प्रभाव उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में भी होने का अनुमान व्यक्त किया गया था. ध्यान हो कि उत्तर प्रदेश के पश्चिमी क्षेत्र में बीते बुधवार शाम आए आंधी तूफान में नौ लोगों की मौत हो गई थी, जबकि चार अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. प्रमुख सचिव अवनीश अवस्थी ने बताया कि इटावा में चार, मथुरा में तीन और आगरा में एक व्यक्ति की मौत की खबर है.

अवस्थी ने बताया कि आगरा के एतमादपुर में मकान पर पेड़ गिरने से एक व्यक्ति की मौत हुई है. हाथरस से मिली खबर के अनुसार वहां बिजली गिरने से 15 वर्ष के एक किशोर की मौत हो गई. घटना हाथरस जंक्शन थानाक्षेत्र के मोहब्बतपुरा गांव की है. अभी तक की जांच में पता चला है कि किशोर खेत से घर लौट रहा था, तभी यह हादसा हो गया.अवस्थी ने बताया कि प्रभावित जिलों के जिलाधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वे प्रभावित लोगों तक तत्काल या कल सुबह तक राहत पहुंचायें.

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे आगरा, अलीगढ़, मथुरा और फिरोजाबाद सहित प्रभावित जिलों में आंधी तूफान से हुए नुकसान का आकलन करें और प्रभावित लोगों तक तत्काल मदद पहुंचाएं.

POPULAR ON IBN7.IN