अरविंद केजरीवाल ने मांगा अमरिंदर सिंह से मिलने का वक़्त, मिला इनकार

 

दिल्ली में वायु प्रदूषण का स्तर बदतर होता देख मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को हरियाणा और पंजाब के अपने समकक्षों के साथ बैठक की अपील की। केजरीवाल ने इस खतरे से निपटने के लिए संयुक्त कार्रवाई का आह्वान करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने कहा कि सरकारें फसलों के अवशेष जलाने के अलावा कोई आर्थिक सुझाव मुहैया कराने में नाकाम रही हैं। जिसके कारण राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र की आबोहवा बिगड़ती जा रही है। केजरीवाल ने मामले को सुलझाने की जरूरत पर जोर दिया और जल्द ही भविष्य में चर्चा के लिए एक बैठक का अनुरोध किया। केजरीवाल ने पत्र में लिखा, “आप दिल्ली की वायु गुणवत्ता की खराब हालत से परिचित होंगे..जिसके मुख्य कारणों में से एक साल के इस हिस्से के दौरान पड़ोसी राज्य पंजाब और हरियाणा में फसलों के अवशेष जलाना है।” हालां‍कि अमरिंदर सिंह ने बैठक से इनकार कर दिया। टाइम्‍स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, सिंह ने कहा कि मुख्‍यमंत्रियों के बीच बातचीत का कोई मतलब नहीं निकलेगा क्‍योंकि केंद्र को अंतर-राज्‍य प्रभाव को ध्‍यान में रखते हुए मामले को सुलझाना होगा।

अमरिंदर ने कहा, ‘केंद्र सरकार को किसानों को राहत देने के लिए वित्‍तीय सहायता देनी चाहिउ थी। दिल्‍ली की तरह, पंजाब भी स्‍मॉग और प्रदूषण के बुरे प्रभाव झेल रहा है, जिससे मजबूरन स्‍कूल व अन्‍य संस्‍थान बंद करने पड़ रहे हैं।” केजरीवाल ने अपने पत्र में कहा था कि किसान असहाय है और फसलों को जलाने के लिए मजबूर हैं। राज्य सरकारें उन्हें दूसरे विकल्प मुहैया कराने में विफल रही हैं।

 

दिल्ली सरकार ने प्रदूषण के बढ़ते स्तर के मद्देनजर बुधवार को दिल्ली में रविवार तक स्कूल और कॉलेज बंद रखने की घोषणा की है। इन दिनों दिल्ली में खराब होती वायु गुणवत्ता को देखते हुए प्रदूषण का स्तर मापने के लिए 18 से 21 केंद्र सक्रिय हैं।दिल्ली में खतरनाक पीएम 2.5 कण (2.5 मिमी से कम व्यास वाले वायुमंडलीय कणिक पदार्थ) 475 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर मापा गया हैं। 

 

POPULAR ON IBN7.IN