इंडिगो के स्टाफ ने दिल्ली एयरपोर्ट पर पैसेंजर से की मारपीट, एयरलाइन ने माफी मांगी

नई दिल्ली: चेन्नई से दिल्ली आए एक हवाई यात्री के साथ मारपीट का वीडियो वायरल हो रहा है. दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर इंडिगो फ्लाइट के कर्मचारी ने अपने ही यात्री के साथ हाथापाई की. जिस शख्स के साथ इंडिगो एयरलाइन के कर्मचारियों ने मारपीट की, उस शख्स का नाम विनय कटियाल बताया जा रहा है. दरअसल, विनय कटियाल जब पिछले महीने चेन्नई से दिल्ली आए तो उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि उनके साथ एयरलाइन के कर्मचारी मारपीट करेंगे.  
सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि कोच का इंतजार करने के दौरान एयरलाइन के दो ग्राउंड स्टाफ विनय कटियाल नामक शख्स कैसे एक-दूसरे से बहस कर रहे हैं. शख्स और कर्मचारी के बीच बहस इस कदर बढ़ जाती है कि बात हाथापाई पर आ जाती है. वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे ग्राउंड स्टाफ विनय कटियाल को पीछे से पकड़ लेता है और कैसे फिर मारपीट शुरू हो जाती है. 

बताया जा रहा है कि जैसे ही बस में बैठने के लिए पैसेंजर्स जाने लगते हैं, अपशब्द बोलने के आरोप को लेकर विनय कटियाल को ग्राउंड स्टाफ अंदर जाने से रोक लेते हैं.  बात इतनी बढ़ जाती है कि उनके बीच धक्का-मुक्की की नौबत आ जाती है.  स्टाफ पर धक्का देने का आरोप लगाते हुए कटियाल स्टाफ मेंबर पर हमला करने की कोशिश करते हैं. उसके बाद तो दोनों स्टाफ कटियाल पर टूट पड़ते हैं.  बताया जा रहा है कि विनय बस के लेट से आने को लेकर गुस्से में होते हैं. 

वीडियो में एयरलाइन स्टाफ को पीछे से कटियाल का गर्दन पकड़े देखा जा सकता है. हालांकि, अभी तक ये स्पष्ट नहीं हो पाया है कि इस वीडियो को वहीं मौजूद पैसेंजर्स ने बनाया है या फिर अन्य ग्राउंड स्टाफ ने. हालांकि, इस घटना के लिए इंडिगो एयरलाइन ने माफी मांग ली है. बताया जा रहा है कि ये घटना 15 अक्टूबर की है. इंडिगो एयरलाइन ने अपने बयान में कहा है कि इस घटना में जो स्टाफ शामिल था, उसे नौकरी से निकाल दिया गया है. इसके लिए जांच कमेटी गठित की गई थी, जिसमें ग्राउंड स्टाफ को दोषी पाया गया. 

इंडिगो एयरलाइन के प्रेसीडेंट और डायरेक्टर आदित्य घोष ने कहा कि 'मैं दिल्ली दिल्ली एयरपोर्ट पर हमारे स्टाफ के द्वारा यात्री के साथ हुए इस दुर्व्यवहार को स्वीकार करता हूं.  मैंने व्यक्तिगत तौर पर यात्री से बात की और माफी मांगी.'

इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपती राजू ने कहा कि 'मैंने नागरिक उड्डयन मंत्रालय की निगरानी एजेंसी डीजीसीए से इस मामले में रिपोर्ट देने को कहा है. किसी तरह की हिंसा दुखद है.'

POPULAR ON IBN7.IN