केजरीवाल साल भर में केवल दो बार ऑफिस गए, कपिल मिश्रा

आम आदमी पार्टी के बागी नेता और पार्टी से निलंबित सदस्‍य कपिल मिश्रा ने एक बार फिर अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा है कि मुख्‍यमंत्री पिछले साल केवल दो बार अपने ऑफिस गए. उन्‍होंने फेसबुक पोस्‍ट और ट्विटर पर लिखा,  ''सगे संबंधियों पर छापे पड़ रहे हैं, भ्रष्टाचार के रोज नए मामले सामने आ रहे हैं, जनता से पूरी तरह कटे CM बिल्कुल चुप, बड़े दिनों बाद घर से निकले सरकार 3 देखने. जी हां, सरकार -तीन, अब इसे क्या कहे, मुंगेरीलाल के हसीन सपने. मैं सोच रहा था कि आखिरी बार अरविंद केजरीवाल जी दफ्तर कब गए थे? सचिवालय की सीढ़ियां कब चढ़ी थी? दिल्ली वालों को शायद अंदाज़ भी न हो कि उनका CM पिछले एक साल में मुश्किल से दो दिन आफिस गया है.''
कपिल मिश्रा ने आगे लिखा, ''अब जब चारों तरफ से लोग आ आकर मुझे जानकारियां दे रहे हैं तो एक चीज समझ आ रही है, जिस काम में भ्रष्टाचार संभव था, वो काम न LG रोक पाए न केंद्र सरकार. और जिन कामों में भ्रष्टाचार नहीं होता वो सब LG और केंद्र सरकार के बहाने फांस  दिए गए. मोहल्ला क्लिनिक के जो विवरण सामने आ रहे हैं, उन्हें देखकर कोई नहीं कह सकता कि LG या केंद्र या कानून या कोर्ट किसी का कोई भी डर बाकी था. हर कानून की समानता के साथ धज्जियां उड़ाई गयी.''

कपिल मिश्रा ने यह भी लिखा, ''अरविंद जी बंद कमरों में आज कल अपने साथियों से एक बात कह रहे है, जनता से मत डरो, जनता 15 दिन में सब भूल जाती है. इसीलिए वो चुप हैं कि 15 - 20 दिन में लोग भूल जाएंगे.''

उन्‍होंने आगे कहा कि दुष्यंत ने कहा है कि

"तुम्हारे पांव के नीचे ज़मीन नहीं
कमाल ये कि तुम्हे फिर भी यकीन नहीं"

कपिल मिश्रा ने कहा, ''देश का सबसे कम जनता से मिलने वाला CM, देश का सबसे कम दफ्तर जाने वाला CM, देश का अकेला CM जिसके पास कोई विभाग नहीं, देश का सबसे कम काम करने वाला CM, वैसे तो हमेशा ही छुट्टी पर रहते है, पर उसके बावजूद आधिकारिक तौर पर भी छुट्टियां लेते है और इस मामले में भी देश में सबसे ज्यादा छुट्टियां लेने वाला CM और जैसी जानकारियां सामने आ रहीं है शीघ्र ही वो ऐसे CM बनने वाले है जिन पर देश में सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार के मामले चल रहे होंगे.
 
सवालिया लहजे में पूछा कि क्या अपनी खुद की प्रदर्शन रिपोर्ट जनता के सामने रखने का माद्दा है अरविंद केजरीवाल में?
 
हर सवाल का एक जवाब-आपराधिक चुप्पी. आप नहीं बोले. बोलने का कष्ट करियेगा भी नहीं, क्योंकि अब जनता बोलेगी.

जिन दिल्ली वालों का ये पैसा था जो खुलेआम लूट गया, जिन दिल्ली वालों का ये भरोसा था जो सरेबाजार तोड़ा गया, जिन दिल्ली वालों के कंधे पर चढ़कर लाल किले के सपने बुने गए, अब वो दिल्ली वाले बोलेंगे.

और हां, याद रखना जनता भूलती नहीं. जी हां, अब जनता बोलेगी.
 
इस मामले में ट्वीट करते हुए कपिल मिश्रा ने यह भी कहा, ''अरविंद केजरीवाल जी मैं आपको खुला चैलेंज दे रहा हूं. इसमें से एक भी बात गलत साबित करके बताइए. आपके ही बारे में लिखा है.'' उल्‍लेखनीय है कि कपिल मिश्रा ने केजरीवाल पर भ्रष्‍टाचार के कई गंभीर आरोप लगाए हैं. मंत्री पद से बर्खास्‍त होने के बाद उन्‍होंने छह दिनों तक केजरीवाल के खिलाफ अनशन भी किया.

Media

POPULAR ON IBN7.IN