राजेंद्र कुमार का जांच एजेंसी पर उत्पीड़न का आरोप निराधार : सीबीआई

 

नई दिल्ली:  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पूर्व प्रधान सचिव द्वारा केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) पर लगाए गए उत्पीड़न के आरोप को जांच एजेंसी ने 'पूरी तरह निराधार' करार दिया है। सीबीआई ने यह भी कहा कि यह उस मामले को प्रभावित करने का प्रयास है, जो विचाराधीन है।

राजेंद्र कुमार ने गुरुवार को कहा कि उन्होंने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति मांगी है और आरोप लगाया कि सीबीआई के अधिकारियों ने मुझ पर मुख्यमंत्री को 'झूठे' मुकदमे में फंसाने के लिए दबाव बनाया। कुमार की इस टिप्पणी के बाद जांच एजेंसी का बयान सामने आया है।

सीबीआई के बयान के मुताबिक, "कुमार का यह आरोप कि एक राजनीतिक अधिकारी को इस मामले में फंसाने के लिए सीबीआई के अधिकारियों ने उन पर दबाव बनाया, यह पूरी तरह निराधार है और एजेंसी इस आरोप से इनकार करता है।"

बयान में कहा गया, "कुछ आरोपी, जिन्हें जांच के दौरान गिरफ्तार किया गया था, उनके पास न्यायालय में पेशी के दौरान सीबीआई पर शारीरिक उत्पीड़न का आरोप लगाने का अवसर था।"

एजेंसी ने कहा, "लेकिन एक शख्स को छोड़कर किसी भी व्यक्ति ने माकूल समय पर इस तरह का आरोप नहीं लगाया। उस शख्स ने दिल्ली उच्च न्यायालय में एक रिट याचिका भी दायर की, लेकिन न्यायालय ने इस बात पर गौर किया कि वह तंत्र को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं तथा जांच एजेंसी से भाग रहे हैं। इसके बाद उन्हें अपनी याचिका वापस लेनी पड़ी।"

सीबीआई ने बयान में कहा, "इस वक्त इस तरह का निराधार आरोप केवल मामले को प्रभावित करने का प्रयास है, जो विचाराधीन है।"

POPULAR ON IBN7.IN