मप्र के मंत्री संजय पाठक पर महिला को धमकाने का आरोप

कटनी :  मध्यप्रदेश के लघु, मध्यम व सूक्ष्म उद्यम राज्यमंत्री संजय पाठक पर एक महिला ने धमकाने का आरोप लगाते हुए पुलिस से शिकायत की है। महिला का कसूर यह है कि वह अपनी दुकान के बाहर पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी के तबादले के विरोध वाला बैनर लगाए हुई थी। विपक्षी कांग्रेस के मुताबिक, संजय पाठक हवाला कांड में फंसे हुए हैं, उन्हें बचाने के लिए ही जांच अधिकारी गौरव तिवारी का तबादला किया गया।

विजयराघवगढ़ थाना क्षेत्र के कन्हवारा में रहने वाली उर्मिल सोनी ने मंत्री पाठक पर आरोप लगाया है कि गुरुवार को मंत्री पाठक अपने साथियों के साथ उसकी दुकान के सामने से गाड़ियों से निकल रहे थे, तभी उनका ध्यान उसकी दुकान के बाहर लगे बैनर पर गया, जिस पर पूर्व पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी के समर्थन और तबादले के विरोध का जिक्र था।

महिला का आरोप है कि बैनर को पढ़ने के बाद मंत्री पाठक अपनी गाड़ी से उतरे और धमकाते हुए बैनर को फाड़ दिया। उन्होंने झूठे मामलों में फंसाने व जान से मारने की धमकी भी दी। महिला ने इस आशय की शिकायत शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक शशिकांत शुक्ला से की है।

महिला उर्मिला और उसके पति महेंद्र ने संवाददाताओं से कहा कि उन्हें जान का खतरा है। मंत्री पाठक ने उन्हें 'सबक सिखाने' की धमकी दी है।

महिला के आरोपों और पुलिस में की गई शिकायत को लेकर मंत्री पाठक से संपर्क किया गया, मगर वह उपलब्ध नहीं हुए।

पुलिस अधीक्षक शुक्ला ने शिकायत आने की बात तो स्वीकार कर ली, मगर महिला के आरोपों को नकराते हुए मंत्री की तरफदारी का फर्ज निभाया।

उन्होंने आईएएनएस से कहा, "शिकायतकर्ता का पति बदमाश है। उसके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं, बीते रोज ही उसे आबकारी अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया था। वह इस तरह की शिकायत करके चाहता है कि पुलिस का ध्यान भटक जाए और वह अपना अनैतिक काम करता रहे, मगर ऐसा होने वाला नहीं है।"

कटनी में लगभग पांच सौ करोड़ के हवाला कारोबार का खुलासा करने वाले तत्कालीन पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी का तबादला कर दिया गया था। इस मामले में मंत्री संजय पाठक पर भी कई तरह के आरोप लगे थे। स्थानीय लोगों और विपक्षी कांग्रेस का कहना है कि एसपी का तबादला राजनीतिक दबाव में किया गया। ईमानदार और लोकप्रिय एसपी के अचानक तबादले से नाराज लोगों ने कई दिनों तक प्रदर्शन किया। प्रदर्शनों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल हुए।

उधर भोपाल में भी इसी मामले को लेकर पिछले दिनों कांग्रेस ने प्रदर्शन किया था और राज्य तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ ने हड़ताल करने की चेतावनी दी थी।

POPULAR ON IBN7.IN