मप्र : हवाला कारोबार की परतें उधेड़ने वाले पुलिस अफसर पर गिरी गाज

कटनी:  मध्य प्रदेश के कटनी जिले में पिछले कुछ वर्षो में हुए हवाला कारोबार की परतें उधेड़ना पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी को महंगा पड़ गया है। उन्हें कथित तौर पर एक मंत्री के दवाब में कटनी से छिंदवाड़ा स्थानांतरित कर दिया गया है, क्योंकि इस कथित मंत्री के हवाला कारोबार से जुड़े होने की बातें सामने आने लगी थी। पुलिस अधीक्षक के तबादले का विरोध भी शुरू हो गया है। राज्य सरकार द्वारा सोमवार को वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के तबादले व पदस्थापनाएं की गई हैं। उनमें एक कटनी के पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी भी हैं। तिवारी ने पिछले दिनों हवाला कारोबार की परतें उघाड़ दी थी, इतना ही नहीं इस मामले में एक व्यक्ति की गिरफ्तारी के बाद इस कारोबार से जुड़े कई रसूखदारों के शिकंजे में कसने की संभावना बनने लगी थी, जिनमें राज्य सरकार के एक मंत्री भी शामिल हैं।

तिवारी के तबादले की खबर मिलते हुए कटनी में विरोध शुरू हो गया है, कई संगठनों ने मंगलवार को विरोध प्रदर्शन का एलान किया है। कांग्रेस विधायक सौरभ सिंह ने संवाददाताओं से चर्चा करते हुए सरकार के मंत्री संजय पाठक पर हमला बोला। उन्होंने हवाला कारोबार की निष्पक्ष जांच की मांग करते हुए राज्य सरकार के मंत्री पाठक के इस्तीफे की मांग की है।

कटनी जिले में कई फर्जी कंपनियों के नाम पर बैंकों में खाते हैं और इन खातों के जरिए बड़े पैमाने पर करोड़ों रुपयों का लेन देन हुआ। इसकी एसआईटी जांच भी कर रही है। जांच के दौरान पुलिस अधीक्षक तिवारी ने भी इस बात का खुलासा किया था कि कई फर्जी खातों से करोड़ों का लेन देन हुआ है।

यह मामला तब सुर्खियों में आया जब गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले रजनीश तिवारी को आयकर विभाग का नोटिस आया था। रजनीश को एस.के. मिनरल्स का निदेशक बताते हुए बैंक में खाता खोला गया और उसके खाते से करोड़ों की रकम का ट्रांसफर हुआ।

एक पुलिस अफसर ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर बताया, "हवाला कारोबार की जांच में बीते दिनों एक फार्म के कर्मचारी संदीप बर्मन को गिरफ्तार किया गया, वहीं एक फर्म से बड़े पैमाने पर लेन देन के कागजात भी बरामद हुए। उसके बाद से हवाला कारोबार से जुड़े उन लोगों की नींद उड़ गई जो उसके संरक्षणदाता थे।" इस गिरफ्तारी के बाद एक महिला ने कथित तौर पर हवाला से जुड़े होने का एक मंत्री पर आरोप लगाया। उसके बाद तो सरकार की भी भौंहें तनी और तिवारी का आनन-फानन में सोमवार को तबादला कर दिया गया।

वहीं स्थानीय लोगों ने पुलिस अधीक्षक तिवारी के तबादले के विरोध में प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी के नाम खत लिखा है। इसमें कहा गया है कि तिवारी ने जब से कटनी के पुलिस अधीक्षक के तौर पर जिम्मेदारी संभाली थी, तब से यहां अपराध पर अंकुश लग गया था और गलत काम करने वालों की नींद उड़ गई थी, मगर राजनीतिक दवाब में तिवारी का ही तबादला कर दिया गया है।

  • Agency: IANS
Poker sites http://gbetting.co.uk/poker with all bonuses.