दिग्विजय सिंह ने अपनी पदयात्रा के लिए शिवराज सरकार से मांगा मोबाइल टॉयलेट

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने अगले शनिवार से शुरू हो रही छह महीने लंबी नर्मदा परिक्रमा के लिए मध्यप्रदेश सरकार से एंबुलेंस, अतिरिक्त सुरक्षा और मोबाइल शौचालय की मांग की है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह सरकार ने एंबुलेंस और सुरक्षा की मांग को मान लिया है। 3400 किलोमीटर लंबी यात्रा पर दिग्विजय सिंह का कहना है कि इसमें ना ही कांग्रेस का झंडा होगा और ना ही कांग्रेस के नारे, पोस्टर, बैनर होंगे। नर्मदा परिक्रमा की योजना बना रहे वरिष्ठ कांग्रेस नेता का कहना है कि वो साल 1990 से नर्मदा परिक्रमा करते रहे हैं। गौरतलब है कि अगले साल मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। ऐसे में दिग्विजय सिंह की ये परिक्रमा सूबे की कुल 230 सीटों में 100 विधानसभा कवर करेगी। न्यूज चैनल एनडीटीवी से बातचीत में उन्होंने कहा कि जब मैं मुख्यमंत्री था तब नर्मदा नदी के तट पर रहा था। इसलिए लगा कि मुझे नर्मदा परिक्रमा करनी चाहिए। नर्मदा परिक्रमा करना मेरी प्रतिबद्धता है।

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री भले ही नर्मदा की परिक्रमा को राजनीति से दूर बता रह हैं लेकिन ये परिक्रमा जिन दो राज्यों से होकर गुजरने वाली है वहां विधानसभा चुनाव होने हैं। जहां मध्यप्रदेश में अगले साल चुनाव होंगे जबकि गुजरात में इसी साल विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। परिक्रमा में मध्यप्रदेश की करीब 100 और गुजरात की करीब बीस सीटे आती हैं। इसलिए दिग्विजय की इस यात्रा को राजनीतिक नजरिए से भी देखा जा रहा है।

खबर के अनुसार दिग्विजय सिंह तीस सितंबर से नर्मदा परिक्रमा शुरू करने जा रहे हैं। जहां वो झोतेश्वर से नरसिंहपर के बरमान खुर्द कार से जाएंगे। यहां से पूजा के बाद दोपहर करीब तीन बजे पैदल परिक्रम शुरू करेंगे। हालांकि अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि दिग्विजय ये सारा रास्ता पैदल पूरा करेंगे या कुछ दूरी के लिए वाहन का भी प्रयोग करेंगे।

POPULAR ON IBN7.IN