कलक्टर को रिश्वत देने वाले के नाम का खुलासा हो : कांग्रेस

 

भोपाल:  कांग्रेस ने मध्य प्रदेश के श्योपुर जिले के जिलाधिकारी अभिजीत अग्रवाल को मिठाई के डिब्बे में पांच लाख की रिश्वत देने की कोशिश करने वाले 'प्रभावशाली' व्यक्ति के नाम का खुलासा किए जाने की मांग की है। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता के.के.मिश्रा ने बुधवार को एक बयान जारी कर कहा कि प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान श्योपुर के जिलाधिकारी अभिजीत अग्रवाल को श्रेष्ठ अफसर बताते हैं, तो उन्हें यह भी जानना चाहिए कि अग्रवाल को जमीन से जुड़े मामले में सहयोग करने के एवज में पांच लाख रुपये की रिश्वत देने की पेशकश करने वाला होशंगाबाद का 'प्रभावशाली' व्यक्ति कौन है।

उल्लेखनीय है कि रविवार की शाम एक व्यक्ति ने श्योपुर के जिलाधिकारी अग्रवाल को उनके दफ्तर में मिठाई के डिब्बे में पांच लाख की रिश्वत देने की पेशकश की थी। बाद में रिश्वत की पेशकश करने वाले व्यक्ति को फटकार लगाते हुए अग्रवाल ने रकम लौटा दी थी और उसने गलती के लिए लिखित में माफीनामा दिया था।

मिश्रा ने कहा कि आश्चर्यजनक यह है कि कोई व्यक्ति जिलाधिकारी को इतनी बड़ी रकम की रिश्वत देने की पेशकश करे और जिलाधिकारी उसके खिलाफ कार्रवाई तो दूर उसका नाम भी सार्वजनिक न करें। जिलाधिकारी का यह रवैया कई सवाल खड़े करता है।

मिश्रा ने मुख्य सचिव बी.पी.सिंह से आग्रह किया है कि वे स्वयं इस मामले की गंभीरता पर संज्ञान लें, मुख्यमंत्री की भ्रष्टाचार को लेकर जारी कथित चिंताओं का समाधान कर पारदर्शी उदहारण पेश करें और जिलाधिकारी के खिलाफ विधि सम्मत कार्रवाई करें।

POPULAR ON IBN7.IN