मिजोरम में बार-बार राज्यपाल बदलने के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे छात्र

आइजॉल : मिजोरम में बार-बार राज्यपाल बदलने के खिलाफ मिजोरम के छात्र संगठनों ने अगले सप्ताह यहां विरोध प्रदर्शन आयोजित करने का फैसला किया है। यह जानकारी मंगलवार को जारी एक बयान से प्राप्त हुई। कांग्रेस शासित मिजोरम में पिछले आठ महीनों में सात राज्यपाल नियुक्त किए जा चुके हैं।

राज्य में छात्र संगठनों की शीर्ष संस्था, मिजो जिरलाइ पॉल (एमजेडपी) या मिजो स्टूडेंट्स फेडरेशन (एमएसएफ) ने यहां विरोध प्रदर्शन आयोजित करने और केंद्र सरकार के कार्यालयों की घेराबंदी करने की घोषणा की है। इसके साथ ही संगठन ने नौ और 10 अप्रैल को राज्य में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की यात्रा के दौरान विरोध प्रदर्शन आयोजित करने की भी घोषणा की है।

एमजेडपी के महासचिव रामदीनलियाना रेंथलेई ने कहा, "मिजोरम में लगातार राज्यपालों की बर्खास्तगी और उनके तबादले अपमानजनक हैं। इससे यह पता चलता है कि केंद्र सरकार मिजोरम को कितना नीचा देख रही है।"

उन्होंने कहा, "एमजेडपी इस तथ्य को स्वीकार नहीं कर सकता कि केंद्र सरकार जिन राज्यपालों को पसंद नहीं करती या उनसे इस्तीफा चाहती है, उन्हें इस राज्य में लाकर पटक दे। हमारा राज्य कोई ऐसी जगह नहीं है, जहां आप उन लोगों को लाकर पटक दें, जिन्हें कचरा समझते हों।"

एमजेडपी ने कहा कि केसरी नाथ त्रिपाठी जब यहां शपथ ग्रहण के लिए पहुंचेंगे तो राजभवन के सामने विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। मिजोरम के राज्यपाल अजीज कुरैशी को शनिवार को बर्खास्त किए जाने के बाद पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी को मिजोरम का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।

बयान में कहा गया है, "एमजेडपी आईजोल में स्थित केंद्र सरकार के सभी कार्यालयों का घेराव करेगा और कर्मचारियों को इमारतों में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। जिन इमारतों में केंद्र सरकार के कार्यालय हैं, उन सभी पर काले झंडे फहराए जाएंगे।"

राष्ट्रपति मुखर्जी 10 अप्रैल को मिजोरम विश्वविद्यालय के नौंवे वार्षिक दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि होंगे।

  • Agency: IANS
Poker sites http://gbetting.co.uk/poker with all bonuses.