मिजोरम : परिवार के 3 बच्चे जिंदा जले

आईजोल : मिजोरम में एक आदिवासी परिवार की झोपड़ी में आग लगने से एक बच्ची सहित तीन बच्चे जिंदा जल गए। इस हादसे में एक बच्चे की हालत गंभीर बताई जा रही है। मिजोरम पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, "गुरुवार को मिजोरम-असम सीमा पर स्थित कोलासिब जिले के वैरेंग्टे गांव में एक बांस की झोपड़ी में आग लगने से तीन बच्चे जिंदा जल गए। सभी बच्चों की उम्र तीन से नौ साल के बीच थी।"

उन्होंने कहा कि जब हादसा हुआ उस समय बच्चों के माता-पिता वहां मौजूद नहीं थे। हादसे के शिकार तीन बच्चों का एक नौ साल का भाई 70 फीसदी जल गया। उसे एक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां पर उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।

हादसे के दौरान पीड़ित बच्चों का 11 साल का सबसे बड़ा भाई एक गिरजाघर में क्रिसमस समारोह में भाग लेने गया था।

पुलिस ने ग्रामीणों के बयान के हवाले से बताया कि पीड़ितों की 32 वर्षीय मां लालरम्मावी अपने सात माह के शिशु के साथ घर से बाहर गई हुई थी। रियांग आदिवासी समुदाय के इस गरीब परिवार के घर पर क्रिसमस के दिन खाने के लिए कुछ भी नहीं था, इसलिए वह अपने पड़ोसियों से कुछ चावल मांगने के लिए गई हुई थी।

बच्चों का 34 वर्षीय पिता संगा घर से बाहर एक कस्बे में अपने लिए काम की तलाश में गया हुआ था।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि आग का कारण मिट्टी के तेल का दीपक हो सकता है। जिसे वे घर में प्रकाश के लिए प्रयोग करते थे।

  • Agency: IANS